Hindi News »Business» Jet Airways Told Its Pilots The Airline May Be Grounded In 60 Days

जेट एयरवेज की स्टाफ को चेतावनी- तनख्वाह में कटौती नहीं की तो 60 दिन में बंद हो सकती है एयरलाइंस

पायलटों ने दो साल के लिए वेतन में 15% कटौती को नामंजूर कर दिया था

DainikBhaskar.com | Last Modified - Aug 03, 2018, 02:45 PM IST

जेट एयरवेज की स्टाफ को चेतावनी- तनख्वाह में कटौती नहीं की तो 60 दिन में बंद हो सकती है एयरलाइंस

  • जेट एयरवेज में एतिहाद एयरलाइंस की 24% हिस्सेदारी
  • जेट ने जुलाई 2017 में कई जूनियर पायलटों को 30-50% तनख्वाह लेने को कहा था


नई दिल्ली. जेट एयरवेज ने स्टाफ को चेतावनी दी है कि अगर तनख्वाह में कटौती नहीं की जाती है तो अगले 60 दिन में एयरलाइंस बंद हो सकती है। पायलटों ने दो साल के लिए वेतन में 15% कटौती का एयरलाइन का प्रस्ताव नामंजूर कर दिया था। एक अफसर ने कहा था कि जेट एयरवेज लागत कम करने और राजस्व बढ़ाने में नाकाम रही है।

बताया जा रहा है कि जेट एयरवेज वर्किंग कैपिटल लोन की मांग की है, लेकिन वित्तीय संसाधनों की कमी के चलते बैंकों ने एयरलाइन से गारंटी की मांग की है। सैलरी में कटौती भी इसका हिस्सा बताया गया है। सूत्रों के मुताबिक, एयरवेज में उच्च पदों पर बैठे कुछ लोगों को नौकरी गंवानी पड़ी है, लेकिन उनमें से कोई पायलट नहीं है।

इंडिगो को भी नुकसान : तेल की बढ़ती कीमतों और अंतरराष्ट्रीय बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपए में आई गिरावट के चलते हाल ही में इंडिगो के मुनाफे में 97% की गिरावट दर्ज की गई थी। वहीं, जेट एयरवेज ने घरेलू यात्रियों की बढ़ती संख्या के चलते पिछले महीने 75 बोइंग खरीदने की सहमति जताई थी। जेट ने कहा था कि नए विमानों की कीमत कम रहेगी, लेकिन इनसे क्षमता बढ़ेगी। कंपनी का ये कदम घाटे को कम करने और प्रतियोगिता बढ़ाने वाला बताया गया था। मार्च के अंत तक जेट एयरवेज का घाटा 81.5 अरब रुपए हो गया था। जानकारी के मुताबिक, एयरवेज ने जुलाई 2017 में कई जूनियर पायलटों को 30-50% तनख्वाह लेने को कहा था। ऐसा न करने पर उन्हें नौकरी छोड़ने के लिए कहा गया था।

मुश्किल में कंपनी : जेट एयरवेज अपने कर्मचारियों की सैलरी 25% कम करना चाहता है। न्यूज एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक, एयरलाइंस के पायलट्स और इंजीनियर्स ने इस प्रस्ताव को मानने से इनकार किया। बताया जा रहा है कि सीनियर मैनेजमेंट के वेतन में पहले ही 25% कटौती की जा चुकी है। इनमें जनरल मैनेजर और उससे ऊपर की पोस्ट वाले अधिकारी शामिल हैं। पिछले हफ्ते जेट एयरवेज मैनेजमेंट की पायलट यूनियन नेशनल एविएटर गिल्ड (एनएजी) के साथ बैठक हुई थी। उस वक्त भी वित्तीय हालातों का हलावा देते हुए कंपनी ने सैलरी घटाने का प्रस्ताव रखा था। जेट एयरवेज अपने 25 साल पूरे कर चुकी है। 31 मार्च तक एयरलाइंस के स्थायी कर्मचारियों की संख्या 16,558 थी। इनके अलावा 6,306 अस्थाई कर्मचारी हैं। जेट एयरवेज में एतिहाद एयरलाइंस की 24% हिस्सेदारी है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×