--Advertisement--

8वीं पास को कुमारस्वामी ने शिक्षा मंत्री बनाया, सवाल उठे तो कहा- ​मैंने भी दूसरी पढ़ाई की और आज सीएम हूं

कर्नाटक में 6 जून को कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन वाली सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार हुआ था। इसमें 25 मंत्रियों ने शपथ ली थी।

Dainik Bhaskar

Jun 09, 2018, 07:16 PM IST
कुमारस्वामी ने पिछले महीने कहा था कि वो कांग्रेस की दया पर टिके हैं। -फाइल कुमारस्वामी ने पिछले महीने कहा था कि वो कांग्रेस की दया पर टिके हैं। -फाइल

बेंगलुरु. कर्नाटक में आठवीं पास विधायक को उच्च शिक्षा का मंत्री बनाए जाने पर सवाल उठे हैं। हालांकि, कुमारस्वामी ने इस पर अपने फैसले का बचाव किया है। उन्होंने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता, उन्होंने ने भी तो अलग पढ़ाई की थी, लेकिन वे आज राज्य के मुख्यमंत्री हैं।

कुमारस्वामी ने पूछा- क्या मुझे वित्त विभाग देना चाहिए था

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, मीडिया के सवाल पर मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा, "मैंने क्या पढ़ाई की थी? मैं मुख्यमंत्री हूं। क्या मुझे वित्त (विभाग) देना चाहिए?"

- बता दें कि कुमारस्वामी ने बीएससी की है। उनसे जेडीएस के विधायक जीटी देवगौड़ा को उच्च शिक्षा विभाग का मंत्री बनाए जाने पर सवाल किया गया था।

सिद्धरमैया को शिकस्त देने का इनाम चाहते थे देवगौड़ा
- राज्य में 12 मई को हुए विधानसभा चुनाव में देवगौड़ा ने पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को चामुंडेश्वरी सीट पर शिकस्त दी थी। पार्टी के सूत्रों के मुताबिक, उनकी बड़े विभागों पर नजर थी।

- इस मुद्दे पर कुमारस्वामी (59) ने कहा, "कुछ लोग कुछ खास विभागों में काम करना चाहते हैं, लेकिन हर विभाग में कुशलता से काम करने के मौके होते हैं। हमें कुशलता से काम करना है। काम करने के लिए क्या उच्च शिक्षा और लघु सिंचाई से बढ़िया कोई विभाग है? कुछ मंत्रियों की मांग रहती है, लेकिन कुछ फैसले पार्टी में आंतरिक तौर पर लिए जाते हैं।"

- उन्होंने कहा कि पहले मंत्री बनने और इसके बाद पसंदीदा विभाग चाहने की बात आम है।

पहले कहा था- मैं कांग्रेस की दया पर
- इससे पहले कुमारस्वामी ने कहा था कि वो कांग्रेस की दया पर टिके हैं। उन्हें मुख्यमंत्री के रूप में अपना काम करना है और वह कांग्रेस के नेताओं की अनुमति बगैर कोई काम नहीं कर सकते हैं, क्योंकि कांग्रेस ने उन्हें समर्थन दिया है।

25 मंत्रियों ने ली थी शपथ
- कर्नाटक में 6 जून को कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन वाली सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार हुआ था। इसमें 25 मंत्रियों ने शपथ ली थी। इनमें 14 कांग्रेस के, 9 जेडीएस के और एक-एक बसपा और निर्दलीय थे।

जीटी देवगौड़ा ने 12 मई को हुए विधानसभा चुनाव में चामुंडेश्वरी सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को हराया था। -फाइल जीटी देवगौड़ा ने 12 मई को हुए विधानसभा चुनाव में चामुंडेश्वरी सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को हराया था। -फाइल
X
कुमारस्वामी ने पिछले महीने कहा था कि वो कांग्रेस की दया पर टिके हैं। -फाइलकुमारस्वामी ने पिछले महीने कहा था कि वो कांग्रेस की दया पर टिके हैं। -फाइल
जीटी देवगौड़ा ने 12 मई को हुए विधानसभा चुनाव में चामुंडेश्वरी सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को हराया था। -फाइलजीटी देवगौड़ा ने 12 मई को हुए विधानसभा चुनाव में चामुंडेश्वरी सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को हराया था। -फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..