--Advertisement--

भारत लौटना चाहता है विजय माल्या, अपने खिलाफ चल रहे मुकदमों का सामना करने के लिए तैयार

Dainik Bhaskar

Jul 25, 2018, 07:53 AM IST

माल्या पर 17 भारतीय बैंकों से 9 हजार करोड़ रुपए का फ्रॉड करने का आरोप

ईडी के अफसरों का कहना है कि भार ईडी के अफसरों का कहना है कि भार
  • प्रत्यर्पण होने पर सुनवाई के दौरान माल्या को जेल में रहना होगा
  • ईडी के अफसरों ने कहा- माल्या को कानूनी कार्रवाई का सामना करना ही होगा
  • फिलहाल माल्या लंदन में और वहां की कोर्ट में केस लड़ रहा

नई दिल्ली/लंदन. भगोड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या अब भारत वापस आना चाहता है। वह अपने खिलाफ चल रहे मुकदमों का सामना करने के लिए भी तैयार है। वह बैंकों से लिया कर्ज भी चुकाना चाहता है। ऐसी खबर है कि उसने भारतीय अफसरों से इस बारे में बातचीत भी की है। माल्या पर 17 भारतीय बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपए का कर्ज है। फिलहाल लंदन की अदालत में माल्या के प्रत्यर्पण की सुनवाई चल रही है। अगर वह प्रत्यर्पित कर दिया जाता है, तो भारत में सुनवाई के दौरान उसे जेल में रहना पड़ेगा।

अफसरों का कहना है कि माल्या पर बैंक फ्रॉड, मनी लॉन्ड्रिंग और कर्ज का मुकदमा चल रहा है। यह रकम ब्याज समेत करीब 10 हजार करोड़ रुपए हो चुकी है। इसके बदले केंद्रीय जांच एजेंसी ने भारत में कोर्ट से माल्या की करीब 12,500 करोड़ की संपत्ति को जब्त करने की इजाजत भी मांगी है।

भारत आते ही होगा गिरफ्तार: न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि माल्या ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से संपर्क किया है। हालांकि, ईडी ने उसे किसी भी तरह की राहत देने का वादा नहीं किया। ईडी के अफसरों का कहना है कि अगर वह लौट आता है तो उसे तुरंत गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उसे एक-दो दिन बाद जमानत दी जा सकती है। माल्या को कानूनी प्रक्रिया का सामना करना ही होगा। अगर वह अपनी मर्जी से लौटता है, तो हम इमरजेंसी ट्रैवल डॉक्यूमेंट्स जारी कर सकते हैं। इसके बाद प्रत्यर्पण का मामला खत्म हो जाएगा। इससे पहले माल्या ने कहा था, भारतीय बैंकों ने उसे ‘पोस्टर बॉय’बना दिया। माल्या मार्च 2016 में भारत छोड़कर लंदन चला गया था।

X
ईडी के अफसरों का कहना है कि भारईडी के अफसरों का कहना है कि भार
Astrology

Recommended

Click to listen..