मनिका बत्रा समेत 7 टेबल टेनिस खिलाड़ी ओवरबुक्ड के चलते नहीं कर पाए यात्रा, 24 जुलाई से शुरू हो रहे वर्ल्ड टूर में लेना था हिस्सा

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

-  आईटीटीएफ वर्ल्ड टूर ऑस्ट्रेलियन ओपन 24 से 29 जुलाई तक होना है

-  मनिका ने गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में 2 स्वर्ण समेत 4 पदक जीते 

 

नई दिल्ली.  ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में सबसे ज्यादा पदक जीतने वाली भारतीय खिलाड़ी मनिका बत्रा समेत 7 टेबल टेनिस खिलाड़ियों को एअर इंडिया ने फ्लाइट में बोर्डिंग (चढ़ने) करने से मना कर दिया। भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ियों का 17 सदस्यीय दल आईटीटीएफ वर्ल्ड टूर ऑस्ट्रेलियन ओपन में भाग लेने के लिए मेलबर्न जा रहा था। टीम के सदस्य हवाईअड्डे पर पहुंचे, लेकिन जब बोर्डिंग पास लेने की बारी आई तो एअर इंडिया के स्टाफ ने सिर्फ 10 खिलाड़ियों के लिए ही बोर्डिंग पास जारी किया। इस पर जब अन्य खिलाड़ियों के बोर्डिंग पास मांगे गए तो स्टाफ ने कहा कि फ्लाइट में सिर्फ 10 सीटें खाली हैं। ऐसे में इतने ही खिलाड़ियों यात्रा की इजाजत दी जाएगी, बाकी को रुकना पड़ेगा। इस कारण भारत के सिर्फ 10 खिलाड़ी ही मेलबर्न के लिए रवाना हो सके। मनिका बत्रा ने अपने ट्विटर पेज यह जानकारी दी। न्यूज एजेंसी के अनुसार इस मामले में जब एअर इंडिया से संपर्क करने की कोशिश की, तो वहां से कोई जवाब नहीं मिला।

 

प्रधानमंत्री-खेल मंत्री से शिकायत की

एअर इंडिया स्टाफ के बोर्डिंग पास देने से मना करने के बाद मनिका ने ट्विटर पर केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर और प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग करते हुए मामले में दखल देने की मांग की। मनिका ने लिखा, "टेबल टेनिस टीम के खिलाड़ियों समेत 17 सदस्यीय टीम, जिसमें मेरे अलावा अंचत शरत कमल, मौमा दास, मधुरिका पाटकर, हरमीत, सुथिर्ता, साथियान शामिल थे, को मेलबर्न में होने वाले आईटीटीएफ वर्ल्ड टूर ऑस्ट्रेलियन ओपन में शामिल होने के लिए एअर इंडिया की फ्लाइट AI 0308 से सफर करना था। लेकिन हमें बताया गया फ्लाइट ओवरबुक्ड है और हम लोगों में से केवल 10 लोग ही यात्रा कर सकते हैं। यह चौकाने वाला था।" मनिका के इस ट्वीट के बाद खेल भारत (पूर्व नाम- भारतीय खेल प्राधिकरण) की महानिदेशक (डीजी) नीलम कपूर ने रिट्वीट किया। उन्होंने लिखा, "हम तुरंत ही इस मामले को देख रहे हैं।" इसके करीब डेढ़ घंटे बाद नीलम कपूर ने फिर ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने बताया कि बचे हुए खिलाड़ियों के लिए एक वैकल्पिक फ्लाइट की व्यवस्था की गई है, वे आधी रात के बाद उड़ान भरेंगे।

 

 

 

खबरें और भी हैं...