बंगाल में आज मोदी की रैली, भाजपा सांसद ने राज्य को इस्लामिक रिपब्लिक बताया

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

  • बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में मोदी ने पहली रैली की 
  • मोदी ने कहा- पश्चिम बंगाल सरकार किसानों के लिए काम नहीं कर रही

मिदनापुर​.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यहां हुई रैली के दौरान पंडाल का एक हिस्सा गिर गया। इसमें 13 महिलाओं समेत 67 लोग जख्मी हो गए। मोदी ने जैसे ही पंडाल गिरते देखा, भाषण रोक दिया और अपनी हिफाजत में लगे एसपीजी जवानों को फौरन मदद के लिए भेजा। भाजपा समर्थक शामियाने पर चढ़ गए थे। जिसके चलते ये हादसा हुआ। मोदी भाषण रोककर बार-बार लोगों से नीचे आने की अपील करते नजर आए। केंद्र ने राज्य सरकार से इस हादसे की रिपोर्ट तलब की है।

रैली खत्म होने के बाद मोदी खुद अस्पताल पहुंचे और घायलों से मिले। एक घायल युवती को दिलासा देते हुए मोदी ने कहा- ''बहुत हिम्मत है बेटा तुम्हारे में। अगर हिम्मत रहेगी तो तुम एकदम ठीक हो जाओगी।'' इसी दौरान मोदी जब दूसरी घायल युवती से हालचाल लेने पहुंचे तो उसने ऑटोग्राफ मांगा। इसके बाद प्रधानमंत्री ने उसे ऑटोग्राफ भी दिया।

 

माटी-मानुष की बात करने वालों की असलियत सामने आई : मोदी ने इससे पहले रैली में तृणमूल कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा- "माटी और मानुष की बातें करने वालों की असलियत अब सामने आ गई। ये लोग सिंडिकेट बनाकर आपको लूट रहे हैं। ये सिंडिकेट जबरन वसूली कर रहा है। किसानों का हक छीन रहा है। आज पश्चिम बंगाल का आम नागरिक सामान्य जीवन मुश्किल से जी रहा है। यहां पूजा भी मुश्किल में है। सिंडिकेट की मर्जी के बिना पश्चिम बंगाल में कुछ भी करना मुश्किल है। पश्चिम बंगाल की सरकार आपके लिए काम नहीं कर रही है।"

 

मोदी ने ममता का आभार जताया: "मैं ममता दीदी का बहुत आभारी हूं। आज मेरे स्वागत में उन्होंने हजारों झंडे और पोस्टर्स लगाए। मैं इसलिए भी उनका आभारी हूं, क्योंकि उन्होंने हाथ जोड़कर मेरा स्वागत किया।" मोदी के दौरे से ठीक पहले शहर में तृणमूल कांग्रेस ने ममता बनर्जी के कई पोस्टर्स लगवा दिए थे। भाजपा का आरोप है कि ये पोस्टर्स, झंंडे और बैनर इसलिए लगवाए गए ताकि भाजपा को मोदी के पोस्टर्स के लिए जगह ना मिले। तृणमूल ने आज यहां सभाएं भी रखीं, ताकि मोदी की रैली में कम से कम लोग पहुंचें। 

 

केंद्र सरकार किसानों की सरकार : मोदी ने कहा- "भाजपा सरकार लोगों का जीवन आसान बनाने के लिए काम कर रही है। अभी हाल ही में हमारी सरकार ने एक ऐसा फैसला लिया, जो पश्चिम बंगाल के किसानों को भी बहुत बड़ी ताकत देने वाला है। हमने फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाया है। हम 22 हजार किसानों को अपग्रेड करने की दिशा में भी काम कर रहे हैं। हमारी सरकार किसानों की सरकार है।"

 

भाजपा का बंगाल में बढ़ा है जनाधार, दूसरे नंबर की पार्टी बनी : 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को बंगाल में 16.80% वोट और दो सीटें मिलीं थीं। इसके बाद से भाजपा को राज्य में विस्तार की संभावनाएं दिखीं। इसकी झलक उपचुनावों में भी दिखी। उलुबेरिया लोकसभा उपचुनाव में भाजपा को 23.29% वोट मिले। 2014 में यहां उसे 11.5% वोट मिले थे। नोआपाड़ा विधानसभा सीट पर 2016 में जहां भाजपा को 13% वोट मिले थे, यहां उपचुनाव में 20.7% वोट मिले। वहीं, लेफ्ट और कांग्रेस के वोट प्रतिशत में कमी आई। कोंतई विधानसभा उप-चुनावों में भाजपा 30% वोट के साथ दूसरे स्थान पर रही।

खबरें और भी हैं...