--Advertisement--

मैं यह साफ कर दूं कि लिंचिंग अपराध है, भले ही उसका मकसद कुछ भी हो - नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा- महागठबंधन पर एक ही सवाल है कि यह चुनाव के बाद बिखरेगा या पहले

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 02:23 PM IST
Modi said in Interview one crore jobs created in the last one year

  • मोदी ने कहा- जिनका हमारे संस्थानों में भरोसा नहीं, वही देश के टुकड़े-टुकड़े जैसे बयान देते हैं
  • राहुल के गले लगने पर कहा- मैं विनम्र कामदार, नामदारों से तुलना नहीं

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि देश में पिछले एक साल के दौरान एक करोड़ से ज्यादा रोजगार पैदा हुए हैं। लाेगों को नौकरियां नहीं मिलने संबंधी विपक्ष का दुष्प्रचार अब बंद होना चाहिए। प्रधानमंत्री ने यह बात न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में कही। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत विपक्ष के कई नेताओं के आरोपों पर जवाब दिए। एक अन्य अंग्रेजी वेबसाइट को दिए साक्षात्कार में उन्होंने साफ कहा कि लिंचिंग अपराध है, भले ही उसका मकसद कुछ भी हो।

सवाल: एनआरसी के मुद्दे पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने देश में गृहयुद्ध और खून-खराबे की बात कही है?

मोदी: जिनका खुद से भरोसा उठ चुका है, जिन्हें जनसमर्थन खोने का डर है और जिनकी हमारे संस्थानों में कोई आस्था नहीं, वही लोग गृहयुद्ध, खून-खराबा और देश के टुकड़े-टुकड़े जैसे शब्द इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसे लोग नि:संदेह देश की नब्ज से कटे हुए हैं। मैं आश्वस्त करता हूं कि भारत के किसी भी नागरिक को देश नहीं छोड़ना पड़ेगा। एनआरसी में तय प्रक्रिया के अनुसार सभी को पर्याप्त मौके दिए जाएंगे।

सवाल: आप बीते इंटरव्यू में कहते रहे हैं कि नौकरियों की संख्या का आकलन करने की तरीका पुराना है और वास्तविक स्थिति मौजूदा डेटा के विपरीत है। आपकी राय में भारत की मौजूदा स्थिति में रोजगार की स्थिति क्या है और उसके मौकों में आप इजाफा कैसे करेंगे?
मोदी: लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान बहस में इस पर विस्तार से बता चुका हूं। संक्षेप में कहें तो जब अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ रही है और भारत दुनिया की तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्थाओं में शुमार है तो नौकरियां क्यों नहीं बढ़ेंगी? जब सड़क बनाने, रेल की पटरियां बिछाने और बिजली उत्पादन में निवेश सर्वोच्च स्तर पर है तो नई नौकरियां कैसे नहीं आएंगी? इसी तरह व्यावसायिक और यात्री वाहनों की बिक्री उल्लेखनीय वृद्धि हुई है तो इसका मतलब ये नहीं है कि जॉब बढ़ रहे हैं? जब विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) सबसे ज्यादा है तो कैसे कहा जा सकता है कि नई नौकरियां नहीं आ रहीं। 2014 में मोबाइल मैन्यूफेक्चरिंग की केवल दो कंपनियां थीं जो अब बढ़कर 120 हो गई हैं। क्या इससे नौकरियां नहीं आ रहीं? आज भारत स्टार्ट-अप का हब बन चुका है। क्या इससे नौकरियां नहीं आ रहीं? पर्यटन भी जॉब पैदा करता है। पिछले साल भारत में विदेशी पर्यटकों की संख्या में 14% का इजाफा हुआ। घरेलू पर्यटकों की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। क्या इससे लोगों को नौकरियां नहीं मिलीं? मैं पहले ही कह चुका हूं कि पहली बार व्यवसाय शुरू कर रहे लोगों को 3.5 करोड़ रुपए से ज्यादा का लोन दिया गया। क्या हर लोन रोजगार के नए मौके नहीं लाता? पिछले साल ही एक करोड़ से ज्यादा नौकरियां आईं।

सवाल: क्या एनडीए के छोटे सहयोगी भाजपा में भरोसा खाेते जा रहे हैं?
मोदी: इसका जवाब पिछले दिनों की दो घटनाओं से मिलेगा। पहला लोकसभा में पेश अविश्वास प्रस्ताव और दूसरा राज्यसभा में उपसभापति चुनाव। इनके परिणामों से साफ है कि कौन-सा गठबंधन अटूट है और कौनसा बिखर रहा है। हमें तो उन दलों ने भी समर्थन दिया, जो हमारे सहयोगी नहीं हैं। एनडीए में नए सहयोगियों का स्वागत है। विपक्ष का महागठबंधन विकास नहीं, बल्कि वंशवाद से जुड़ा है। इसे लेकर सिर्फ एक ही सवाल है कि यह चुनाव के बाद बिखरेगा या उससे पहले?


सवाल: अगर ऐसा है तो जम्मू-कश्मीर में पीडीपी का साथ क्यों छोड़ा?
मोदी: मुफ्ती साहब के निधन के बाद लोगों की आकांक्षाएं पूरी करने के रास्ते में काफी बाधाएं आ रही थीं। यही वजह थी कि कोई आक्षेप लगाए बिना हमने सत्ता से बाहर होने का फैसला कर लिया।

सवाल: क्या सरकार जाति आधारित आरक्षण व्यवस्था खत्म करने पर विचार कर रही है?
मोदी: आरक्षण व्यवस्था खत्म नहीं होगी। इसे लेकर कोई संदेह नहीं होना चाहिए।

सवाल: लोकसभा में राहुल गांधी के गले लगने को क्या आप बचकाना मानते हैं?

मोदी: आप ही तय करें कि यह बचकाना था या नहीं। अगर आप तय नहीं कर पा रहे तो आंख मारने वाली घटना देखें, जवाब मिल जाएगा। मैं एक विनम्र कामदार हूं। मेरी इस देश के नामदारों के साथ कोई तुलना नहीं। उनका तो अपना एक अलग स्टाइल है। वह तय करते हैं कि किससे और कब घृणा करनी है। प्यार किससे करना है और इसका दिखावा कैसे करना है। इसमें मेरे जैसा कामदार क्या कर सकता है?

सवाल: राहुल गांधी तो जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स कहते हैं। इसे कैसे देखते हैं?
मोदी: कांग्रेस अध्यक्ष ने तो गुजरात चुनाव के दौरान भी लोगों को जीएसटी के खिलाफ भड़काने के लिए भरसक प्रयास किए थे। लोगों ने उन्हें खारिज क्यों कर दिया?

सवाल: इमरान खान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने वाले हैं। आपने भी उनसे बात की और बधाई दी। इमरान ने अपने पहले भाषण में भारत के साथ बातचीत की पेशकश की। क्या आप पाकिस्तान से बात करेंगे? क्या भारत के सार्क में हिस्सा लेने की उम्मीद है?

मोदी: मैंने हमेशा से कहा है कि हम पड़ोसियों से बेहतर रिश्ते रखना चाहते हैं। इसके लिए हमने कई कदम उठाए। हाल ही में मैंने इमरान खान को उनकी जीत पर बधाई दी। मैं उम्मीद करता हूं कि पाकिस्तान आतंक और हिंसा से मुक्त होगा और एक सुरक्षित-समृद्ध देश बनेगा।

सवाल: आप पर और भाजपा पर महिलाओं पर अत्याचार और लिंचिंग जैसी घटनाओं पर चुप्पी के आरोप भी लग रहे हैं?

मोदी: महिलाओं के खिलाफ अपराध और लिंचिंग की एक भी घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। समाज में शांति और एकता के लिए सबको राजनीति से ऊपर उठना चाहिए। मैं और मेरी पार्टी कई मौकों पर ऐसी हरकतों और मानसिकता के खिलाफ स्पष्ट बोले हैं। यह सब कुछ तो ऑन रिकॉर्ड है।

Modi said in Interview one crore jobs created in the last one year
Modi said in Interview one crore jobs created in the last one year
X
Modi said in Interview one crore jobs created in the last one year
Modi said in Interview one crore jobs created in the last one year
Modi said in Interview one crore jobs created in the last one year
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..