--Advertisement--

मोहिनी एकादशी 26 अप्रैल को: जानिए इसका महत्त्व और क्या करें-क्या नहीं

26 अप्रैल, गुरुवार को मोहिनी एकादशी है। वैशाख महीने में शुक्ल पक्ष को पड़ने वाली एकादशी तिथि को मोहिनी एकादशी कहते हैं।

Dainik Bhaskar

Apr 25, 2018, 01:25 PM IST
Mohini Ekadasi 2018: Shubh Muhurat, शुभ मुहूर्त में करें पूजन, ये है पूजा की सही विधि

26 अप्रैल, गुरुवार को मोहिनी एकादशी पड़ रही है। हिन्दू कैलेंडर के वैशाख महीने में शुक्ल पक्ष को पड़ने वाली एकादशी तिथि को मोहिनी एकादशी कहा जाता है। स्कंद, विष्णु और पद्म पुराण के अनुसार इस एकादशी पर व्रत और पूजा करने से हर तरह के पाप ख़त्म हो जाते हैं। ये एकादशी अनजाने में हुए पापों से भी मुक्ति दिलाती है। इसके अलावा कुछ ऐसे छोटे-छोटे काम या गलतियां भी हैं जिनको करने से सब पुण्य ख़त्म हो जाते हैं। जानिए इसके लिए क्या करें और क्या न करें।

क्या करें इस दिन -

- सूर्योदय से पहले उठना चाहिए।

- पवित्र नदी में नहाएं अगर ऐसा न हो सके तो घर में ही पानी में गंगाजल डालकर नहाएं।

- नहाकर साफ कपड़े पहनने चाहिए। हो सके तो पीले रंग के कपड़े पहनें।

- तुलसी और केले के पेड़ में जल चढ़ाएं।

- इसके बाद भगवान विष्णु की पूजा करें और हो सके तो मोहिनी एकादशी व्रत की कथा भी करें।

- कथा-पूजा करने के बाद भगवान को फल और मिठाई का भोग लगाएं।

- घर में पूजा न कर सकें तो मंदिर जाकर भगवान को मिठाई और फल चढाएं और लोगों को प्रसाद बाटें।

- ब्राह्मणों को भोजन भी करवा सकते हैं। इसके बाद दान दक्षिणा दें।

- दिनभर व्रत करें। दिन में एक बार फलाहार कर सकते हैं।

जानिए कौन से काम न करें-

- पान न खाएं, इससे रजोगुण और पाप करने की प्रवृत्ति बढती है।

- दूसरों की बुराई न करें इससे आपका मन दूषित होता है।

- किसी भी तरह चोरी न करें।

- हिंसा न करें, इससे मन में विकार पैदा होते हैं

- गुस्सा न करें यानी मन को शांत रखने की कोशिश करें

- झूठ न बोलें

- शारीरिक संबंध न बनाएं

- शेव न बनाएं, नाख़ून और बाल भी न कटवाएं

- मांस और मदिरा से भी दूर रहें

- जुआ न खेलें। इससे लक्ष्मी जी का अपमान होता है।

X
Mohini Ekadasi 2018: Shubh Muhurat, शुभ मुहूर्त में करें पूजन, ये है पूजा की सही विधि
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..