• Home
  • National
  • Pakistan female pilots on PIA flight to Gilgit goes viral
--Advertisement--

पाकिस्तान की दो महिला पायलटों ने 23 हजार फीट ऊंचे पहाड़ों के बीच प्लेन उड़ाया, देश में मिली तारीफ

दोनों महिला पायलट ने इस्लामाबाद से उड़ान भरी और गिलगित होकर वापस लौट आईं।

Danik Bhaskar | Jun 23, 2018, 03:36 PM IST

- इस्लामाबाद से गिलगिट-बाल्टिस्तान के बीच थी उड़ान
- हिमालय और काराकोरम के दुर्गम पहाड़ों के बीच महिलाओं ने उड़ाया प्लेन

इस्लामाबाद. पाकिस्तान की दो पायलट कैप्टन मरियम मसूद और फर्स्ट ऑफिसर शुमायला मजहर की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ हो रही है। दोनों ने हाल ही में पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) की फ्लाइट को गिलगित इलाके में उड़ाया। यह इलाका डेथ जोन कहलाता है क्योंकि वहां 23 हजार फीट ऊंचे कई पहाड़ हैं। इस प्लेन ने इस्लामाबाद से उड़ान भरी थी और गिलगित-बाल्टिस्तान से लौट आया था।

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स ने महिला पायलटों की तारीफ में ट्वीट किया। इस ट्वीट को अब तक 11 हजार से ज्यादा लाइक्स मिल चुके हैं और 3300 से ज्यादा लोग इसे री-ट्वीट कर चुके हैं। पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस ने इन महिला पायलटों की तारीफ में लिखा- ''गिलगिट के लिए उड़ान बहुत मुश्किलभरी होती है। वहां से उड़ान भरने के लिए तकनीक रूप से दक्ष और सटीक होने की जरूरत होती है। कैप्टन मरियम और शुमायला ने दुर्गम पहाड़ों के बीच से बेहद आसानी से प्लेन उड़ाया।''

गिलगित में सांस लेना भी मुश्किल: पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन दोनों पायलटों ने जिस इलाके से विमान उड़ाया, वहां हिमालय और काराकोरम पर्वत श्रृंखलाएं हैं। वहां से उड़ान भरना बेहद मुश्किल होता है। यह इलाका ऐट-थाउंजेंडर्स में आता है। ऐट-थाउंजेंडर्स के तहत दुनिया में 14 चोटियां आती हैं, इनमें से पांच गिलगित-बाल्टिस्तान में हैं। ऐट-थाउंजेंडर्स में समुद्र स्तर से 23 हजार से 26 हजार फीट ऊंचे पहाड़ हैं। यहां मैदानी इलाकों के मुकाबले ऑक्सीजन लेवल 30% कम होता है।

लोगों ने कहा- हमें फख्र है : उमर हसन ने ट्विटर पर लिखा कि पाकिस्तान की इन महिलाओं पर हम फख्र करते हैं। आसिफ पाशा ने ट्वीट किया- मेरी बेटी 8 साल की है। वह भी आपकी तरह पायलट बनना चाहती है। इसमें अभी वक्त लगेगा लेकिन आप दोनों महिलाओं से प्रेरित होकर, वह भी एक दिन पायलट जरूर बनेगी।