Hindi News »National »Ayodhya Vivad »Latest News» Pakistan Shifts Doctor Who Aided Osama Hunt To An Undisclosed Location

ओसामा बिन लादेन को तलाशने में अमेरिका की मदद करने वाले डॉक्टर को पाकिस्तान ने अज्ञात जगह भेजा

अधिकारियों का कहना है कि ऐसा उन्होंने आफरीदी की सुरक्षा के लिए किया है।

DainikBhaskar,com | Last Modified - Apr 28, 2018, 08:27 PM IST

  • ओसामा बिन लादेन को तलाशने में अमेरिका की मदद करने वाले डॉक्टर को पाकिस्तान ने अज्ञात जगह भेजा
    +1और स्लाइड देखें
    आफरीदी पिछले 7 साल से पेशावर की सेंट्रल जेल में बंद थे। (फाइल)

    इस्लामाबाद.अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन को तलाशने में अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए की मदद करने वाले डॉक्टर शकील आफरीदी को किसी अज्ञात जगह पर भेज दिया गया है। आफरीदी पिछले 7 साल से पेशावर की सेंट्रल जेल में बंद थे। बता दें कि लादेन को अमेरिकी नेवी सील्स कंमाडो ने 2 मई, 2011 में एबटाबाद के एक घर में घुसकर मारा था।

    आफरीदी को 2011 में सुनाई गई थी 33 साल कैद की सजा

    - आफरीदी ने सीआईए की मदद करने के लिए एबटाबाद में कथित रूप से नकली टीकाकरण अभियान चलाया था। इसी की मदद से अमेरिका को लादेन की लोकेशन का पता चला था। एक साल बाद, आफरीदी को एक निचली अदालत ने राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में दोषी करार देते हुए 33 साल कैद की सजा सुनाई थी।

    - पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून से बातचीत में पेशावर जेल के एक अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार को सेना बड़ी तादाद में पुलिस के साथ जेल आई और कड़ी सुरक्षा में आफरीदी को ले गई। अधिकारी ने बताया कि उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि कैदी को कहां ले जाया गया है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि हो सकता है कि आफरीदी को राज्य से बाहर ले जाया गया हो।

    राज्य सरकार लंबे समय से कर रही थी मांग

    - अखबार की खबर के मुताबिक, राज्य सरकार बहुत दिनों से केंद्र सरकार से मांग कर रही थी कि आफरीदी को पेशावर जेल से किसी दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया जाए। दरअसल, पेशावर जेल में आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के कई सदस्य बंद हैं। उन आतंकियों से आफरीदी की जान को खतरा बना हुआ था।

    - हालांकि केंद्र सरकार लंबे समय से राज्य सरकार की मांग को नजरअंदाज कर रही थी, लेकिन शुक्रवार यानी 27 अप्रैल को उसने अचानक ही शकील आफरीदी को अज्ञात जगह भेज दिया।

    अमेरिका की धमकी के बाद 10 साल कम की गई थी सजा

    - बता दें कि 2016 में अमेरिका ने पाकिस्तान को सहायता राशि में कटौती करने की धमकी दी थी, जिसके बाद आफरीदी की सजा 10 साल कम कर दी गई थी। हालांकि, तब से आफरीदी को रिहा करने के लिए अमेरिका ने अधिक दबाव नहीं बनाया है।

    - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 2016 में एक चुनानी रैली में कहा था कि वे पाकिस्तान को शकील आफरीदी को रिहा करने का आदेश देंगे।
    - तब ट्रम्प ने फॉक्स न्यूज से बातचीत में कहा था, "मुझे विश्वास है कि वे उसे छोड़ देंगे, क्योंकि हम पाकिस्तान को बहुत अधिक आर्थिक मदद देते हैं। पाकिस्तान हर तरह का फायदा उठाता है।"

    - ट्रम्प के इस बयान का पाकिस्तान ने खंडन किया था। उसके तत्कालीन आंतरिक मंत्री ने तब ट्रम्प को अज्ञानी बताया था। उन्होंने कहा था कि आफरीदी के भाग्य का फैसला पाकिस्तान की सरकार करेगी, न कि डोनाल्ड ट्रम्प।

  • ओसामा बिन लादेन को तलाशने में अमेरिका की मदद करने वाले डॉक्टर को पाकिस्तान ने अज्ञात जगह भेजा
    +1और स्लाइड देखें
    अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन ने वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमला करवाया था। - फाइल
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Latest News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×