सोनिया का गणित कमजोर है, मोदी सरकार के पास संसद के अंदर और बाहर बहुमत है: अनंत कुमार

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

 

  • अविश्वास प्रस्ताव पर शुक्रवार को चर्चा होगी, इसी दिन वोटिंग भी हो सकती है
  • शिवसेना ने कहा- वह मोदी सरकार के पक्ष में ही वोटिंग करेगी
  • यूपीए के सांसदों की संख्या 63 और एनडीए विरोधी दलों के सांसदों की संख्या 74 

नई दिल्ली.  सरकार ने कहा है कि शुक्रवार को लोकसभा में अगर अविश्वास प्रस्ताव के दौरान वोटिंग होती है तो इसमें वह आसानी से जीत जाएगी। संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने गुरुवार को कहा, ‘‘हमारे पास पर्याप्त सांसदों का समर्थन है। सोनिया जी का गणित कमजोर है। वे पहले की तरह हिसाब लगा रही हैं। इस बार भी उनका गणित गलत साबित होगा। मोदी सरकार के पास संसद के अंदर और बाहर बहुमत है।''

तेदेपा और कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया था। इसे स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर कर लिया था। वोटिंग के बारे में यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा था कि विपक्ष के पास पर्याप्त संख्याबल है। शिवसेना ने कहा कि वह मोदी सरकार के पक्ष में वोटिंग करेगी। उसने अपने सांसदों के लिए व्हिप भी जारी कर दिया है। उधर, तेदेपा नेताओं के एक प्रतिनिधि मंडल ने अविश्वास प्रस्ताव पर समर्थन जुटाने के लिए गुरुवार सुबह अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की। उन्होंने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू का पत्र सौंपा। 

 

लोकसभा में वोटों का गणित

सीटें: लोकसभा की कुल संख्या 545, नॉमिनेटेड 2, खाली 11

मौजूदा संख्या:  534, बहुमत के लिए जरूरी : 268

 

एनडीए के कुल सांसदों की संख्या 313 

दल सीटें
भाजपा  274*
शिवसेना 18
लोजपा  06
अकाली दल  04 
रालोसपा  03 
जेडीयू  02 
अपना दल  02 
एनपीपी 01 
एनडीपीपी  01
एसडीएफ 

01

एआईएनआरसी 01
कुल 313

(* भाजपा की संख्या में दो नॉमिनेटेड सदस्य और स्पीकर शामिल हैं)

 

 

यूपीए और बाकी विरोधी दल 

दल सीटें
कांग्रेस 48
राकांपा 7
राजद 4
आईयूएमएल  2
जेडीएस 1
रालोद 1
यूपीए की कुल संख्या 63
तृणमूल 34
तेदेपा 18
लेफ्ट 11
सपा 7
आप 4
बाकी विरोधी दलों की कुल संख्या 74
यूपीए+बाकी विरोधी दल 137

 

इन दलों का रुख साफ नहीं

दल सीटें
अन्नाद्रमुक 37
बीजद 19
टीआरएस  11
अन्य 16
कुल  83

 

खबरें और भी हैं...