Hindi News »National »Latest News »National» Piyush Goyal Given Additional Charge Of Finance Ministry Till Arun Jaitley Recovers

राज्यवर्धन को सूचना मंत्रालय का जिम्मा, दूसरी बार स्मृति ईरानी से हाई प्रोफाइल मंत्रालय वापस लिया गया

विवादों की स्मृति: फेक न्यूज देने पर पत्रकारों की अधिमान्यता रद्द करने के निर्देश दिए थे, पीएमओ ने इस पर रोक लगा दी थी।

DainikBhaskar.com | Last Modified - May 15, 2018, 12:07 AM IST

  • राज्यवर्धन को सूचना मंत्रालय का जिम्मा, दूसरी बार स्मृति ईरानी से हाई प्रोफाइल मंत्रालय वापस लिया गया, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के पास अब सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार है ।-फाइल

    • 2014 में मोदी सरकार बनने के बाद ईरानी को मानव संसाधन मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई थी।
    • 2016 में रोहित वेमुला आत्महत्या और जेएनयू जैसे विवाद के बाद स्मृति का प्रभार बदलकर कपड़ा मंत्रालय सौंपा गया था

    नई दिल्ली. मोदी कैबिनेट में सोमवार रात बदलाव किए गए। स्मृति ईरानी से सूचना एवं प्रसारण का जिम्मा वापस ले लिया गया है, उनकी जगह अब राज्यवर्धन राठौड़ ये विभाग संभालेंगे। मंत्रालय में राठौड़ को स्वतंत्र राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया है। ऐसा दूसरी बार है, जब स्मृति से हाई प्रोफाइल मंत्रालय छीना गया हो। उधर, पीयूष गोयल को अरुण जेटली के अस्वस्थ होने के कारण रेलवे के साथ वित्त मंत्रालय का जिम्मा भी सौंपा गया है। बता दें कि जेटली का सोमवार को ही किडनी ट्रांसप्लांट हुआ है।

    विवादों की स्मृति: दूसरी बार छीना गया बड़ा मंत्रालय

    2016 - विवाद के बाद छीना गया मानव संसाधन मंत्रालय

    - ये दूसरी बार है जब स्मृति ईरानी से कोई बड़ा मंत्रालय छीना गया हो। 2014 में मोदी सरकार बनने के बाद उन्हें मानव संसाधन मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई थी। हालांकि, 2016 में दलित छात्र रोहित वेमुला आत्महत्या और जेएनयू जैसे विवाद उठने के बाद उन्हें कपड़ा मंत्रालय सौंपा गया था।

    2018 - पीएमओ ने वापस ली फेक न्यूज पर विवादित गाइडलाइन्स
    - अगस्त 2017 में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय छोड़ने के बाद स्मृति को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई थी।
    - हाल ही में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए विवादित गाइडलाइन्स जारी की थीं। इसमें फेक न्यूज फैलाने वाले पत्रकारों की अधिमान्यता स्थाई रूप से रद्द करने का प्रावधान रखा गया था।
    - पत्रकारों ने इसे प्रेस की स्वतंत्रता को खत्म करने की कोशिश बताया था, जिसके बाद पीएमओ ने इन गाइडलाइन्स को वापस लेने का आदेश दिया था।
    - इसके अलावा पिछले महीने ही राष्ट्रीय पुरस्कारों के वितरण को लेकर भी विवाद खड़ा हो गया था। तब सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने कहा था कि राष्ट्रपति सिर्फ 11 विजेताओं को ही सम्मानित करेंगे। इसको लेकर कई हस्तियों ने समारोह का बहिष्कार किया था।

    कान फिल्म फेस्टिवल जाने का कार्यक्रम रद्द किया

    - सूत्रों की मानें तो स्मृति ईरानी से सूचना-प्रसारण मंत्रालय का प्रभार लिए जाने की चर्चाएं चल रही थीं। इसी कारण उन्होंने कान फिल्म समारोह में जाने का अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया था। जबकि, इससे पहले उन्होंने कहा था कि उनके साथ आठ लोगों का भारतीय प्रतिनिधिमंडल भी फ्रांस फिल्म महोत्सव में शामिल होने जाएगा।

    अहलूवालिया बने सूचना प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री
    - टेलिकॉम एवं पेयजल मंत्रालय में राज्यमंत्री के पद पर रहे एसएस अहलूवालिया को सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय में राज्यमंत्री का पद सौंपा गया है। वे अल्फोंस कननथनम की जगह लेंगे।
    - बता दें कि इससे पहले मोदी कैबिनेट में पिछले साल सितंबर में बदलाव किए गए थे। तब निर्मला सीतारमण को रक्षा मंत्री और पीयूष गोयल को रेलमंत्री बनाया गया था।

    ये भी पढ़िए-

    अरुण जेटली का किडनी ट्रांसप्लांट सफल, स्वस्थ होने तक पीयूष गोयल संभालेंगे वित्त मंत्रालय

  • राज्यवर्धन को सूचना मंत्रालय का जिम्मा, दूसरी बार स्मृति ईरानी से हाई प्रोफाइल मंत्रालय वापस लिया गया, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    पीयूष गोयल रेल मंत्रालय के साथ-साथ वित्त मंत्रायल की भी जिम्मेदारी संभालेंगे।-फाइल
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×