--Advertisement--

​अरुण जेटली की वापसी

अरुण जेटली ने अपने नजदीकी मित्रों से कहा है कि मैं 14 अगस्त को अपना कामकाज शुरू करना नहीं चाहता हूं

Dainik Bhaskar

Aug 07, 2018, 04:02 PM IST
डॉ. भरत अग्रवाल डॉ. भरत अग्रवाल

डॉक्टरों ने अरुण जेटली को सलाह दी हुई है कि आप धीरे-धीरे, माने तीन महीने बाद, माने 90 दिन बाद, सामान्य जीवन शुरू कर सकते हैं। अब 90 दिन पूरे हो रहे हैं 14 अगस्त को। सुना है कि अरुण जेटली ने अपने नजदीकी मित्रों से कहा है कि मैं 14 अगस्त को अपना कामकाज शुरू करना नहीं चाहता हूं। 14 अगस्त को पाकिस्तान अपना बर्थडे मनाता है। अगले दिन, माने 15 अगस्त को भीड़ और भागदौड़ ज्यादा रहती है। तो मुहुर्त निकला 16 अगस्त का। वैसे, जेटली का इरादा 8 अगस्त को एक बार संसद तक घूम आने का भी था, इसके अगले दिन राज्यसभा के उपसभापति का चुनाव होना है, लेकिन उनके परिवार के सदस्य और डॉक्टर इसके लिए तैयार नहीं हैं।


माजरा क्या है?
तेजस्वी यादव और राहुल गांधी जंतर मंतर पर हुई मोमबत्ती रैली मेें शामिल थे। एक साथ शामिल थे। लेकिन फोटो खिंचवाने के पहले तक दोनों एक-दूसरे से बचते रहे। प्रदर्शन आयोजित किया था तेजस्वी यादव ने। लेकिन जब बीजेपी विरोधी और पार्टियों के नेता वहां पहुंच गए, यथा- केजरीवाल, डी. राजा, शरद यादव और सीताराम येचुरी वगैरह, तो राहुल गांधी भी उसमें शामिल हो गए। सबने बारी-बारी से भाषण भी दिए। सुना यह गया है कि राहुल और तेजस्वी यादव में ज्यादा नहीं बनती है। हालांकि कांग्रेस इससे इनकार करती है।
.... न विसाल-ए-सनम
सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई में बीजेपी इस बात को लेकर बहुत उत्साहित थी कि शिया वक्फ बोर्ड ने बीजेपी की राम मंदिर योजना का समर्थन किया है। शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने ऐसा किया था, लेकिन सुन्नी बोर्ड ने इसका विरोध किया और बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी ने भी विरोध किया। उधर पता चला कि शिया वक्फ बोर्ड के एक और अखिल भारतीय फिरके ने इसका विरोध किया है और वह जवाबी हलफनामा दायर करने जा रहा है। दरअसल वसीम रिजवी मुलायम सिंह के जमाने में आजम खान के नजदीकी हुआ करते थे। मुख्यमंत्री योगी ने उनके खिलाफ जांच वगैरह शुरू करवाई। उनके खिलाफ सीबीआई की जांच भी चल रही है। अब वसीम रिजवी ने एक नई पार्टी शुरू की है- इंडियन शिया अवामी लीग। सुना गया है कि यह पार्टी बीजेपी की सहयोगी हो सकती है। वसीम रिजवी पार्टी की 16 इकाइयों के अध्यक्षों की भी भर्ती कर चुके हैं। कुल मिलाकर वसीम रिजवी की विश्वसनीयता संदिग्ध होने लगी है। लिहाजा योगी ने सुझाव दिया है कि अब दो वक्फ बोर्ड - सुन्नी और शिया नहीं होंगे, सिर्फ एक वक्फ बोर्ड होगा। माने वसीम रिजवी का आखिरी ठौर भी जाता रहेगा।
उड़ीसा के सुपर सीएम
उन्हें उड़ीसा का सुपर सीएम कहा जाता है। उनके बारे में हम पहले भी आपको बता चुके हैं। नाम है - वी. कार्तिकेयन पांडियन, 2000 बैच के आईएएस अधिकारी। 44 वर्ष के पांडियन 2011 से मुख्यमंत्री के निजी सचिव हैं। वह उड़िया नहीं, बल्कि तमिल हैं। लेकिन, कहा जाता है कि उड़ीसा की सरकार वही चलाते हैं। जय पांडा को असली तकलीफ भी उन्हीं से थी।
ट्रम्प को लाने की कोशिशें
गणतंत्र दिवस पर ट्रम्प को दिल्ली लाने के लिए विदेश मंत्रालय और प्रधानमंत्री कार्यालय जमकर कोशिश करने वाले हैं। जानकार सूत्रों का कहना है कि इसके लिए दो तरफ से प्रयास किए जाएंगे। एक तो राजनयिकों और दूतावास के माध्यम से और दूसरे अमेरिका में प्रभावशाली मोदी समर्थक भारतीय व्यवसायियों और मोदी समर्थक प्रभावशाली अमेरिकी सांसदों के जरिए। जिन लोगों ने चुनाव अभियान के दौरान ट्रम्प की मदद की थी, वे अब ट्रम्प को दिल्ली लाने के लिए लॉबिंग कर रहे हैं। 2019 के आम चुनाव के पहले अगर ट्रम्प दिल्ली आते हैं, तो यह मोदी के लिए बहुत मददगार रहेगा। इससे मतदाताओं के बीच संदेश जाएगा कि कैसे दुनिया आम तौर पर भारत को और खास तौर पर मोदी को महत्व देती जा रही है।
नाराज है सरकार
सरकार इस थ्योरी से सख्त नाखुश है कि एबीपी चैनल के कुछ संपादकों और अन्य लोगों के हटाए जाने में उसकी कोई भूमिका है। सरकार का कहना है कि अगर हम ही परेशान होते, तो एबीपी को मुफ्त डीडी डिश सेवा से बाहर का रास्ता दिखा देते। सरकार का मानना है कि रेटिंग गिरने के कारण इस्तीफे लिए गए हैं। और जहां तक बीजेपी प्रवक्ताओं द्वारा एबीपी का बहिष्कार करने का सवाल है, तो सरकार के सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस भी कई चैनलों का बहिष्कार कर रही है। इसका सरकार से कोई लेना देना नहीं है।
वो पहले पहुंच गए
आईएएस अधिकारियों की सर्वोपरिता समाप्त हो गई है। 1986 बैच के आईएफएस अधिकारी और भारतीय लेखा परीक्षा और लेखा सेवा अधिकारी, 1986 बैच के आईएएस अधिकारियों की तुलना में कहीं पहले सचिव स्तर पर पदोन्नत किए गए हैं।
बंगले के लिए, बंगले के साथ। हमेशा
दिल्ली में टाइप 5 के सिंगल स्टोरी बंगलों के आवंटन के मामले पर विभिन्न मंत्रालयों में दिल्ली में तैनात संयुक्त सचिव काफी परेशान हैं। परेशानी यह है कि ये बंगले दिल्ली पुलिस के डीसीपी रैंक के अधिकारियों को मंत्रालयों से सीधे आवंटित किए जा रहे हैं।
गवर्नर की नाराजगी
हरियाणा पुलिस के अलंकरण समारोह के दौरान राज्यपाल ने कहा कि हरियाणा पुलिस ने एक विदेशी नागरिक और एक निजी स्कूल के मामले को ठीक ढंग से नहीं संभाला था।
सबसे बड़ी खबर!
यूपीए की राष्ट्रीय सलाहकार परिषद की अध्यक्ष सोनिया गांधी थीं। अब मोदी सरकार इस परिषद की लगभग 710 फाइलें सार्वजनिक करने के बारे में विचार कर रही है।
X
डॉ. भरत अग्रवालडॉ. भरत अग्रवाल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..