• Hindi News
  • National
  • पुरी जगन्‍नाथ मंदिर में 34 साल बाद आज खुल रहा है महाप्रभु जगन्‍नाथ का रत्नभंडार, Jagannath Temple, Puri, Odisha, Hindu Temple

जगन्‍नाथ मंदिर का खजाना 34 साल बाद खुल रहा है आज, जानिए क्‍यों / जगन्‍नाथ मंदिर का खजाना 34 साल बाद खुल रहा है आज, जानिए क्‍यों

जगन्नाथ मंदिर का खजाना आज 34 साल बाद खुल रहा है।

Apr 04, 2018, 03:34 PM IST

जगन्नाथ मंदिर का खजाना आज 34 साल बाद खुल रहा है। रत्‍न भंडार गृह के खुलने के बाद वहां के फलोर, छत और दीवारों का निरीक्षण किया जाएगा। इससे पहले 12 वीं सदी के इस मंदिर के भंडारगृह का निरीक्षण 1984 में किया गया था। खबरों के अनुसार, उस समय रत्न भंडार के सात में से सिर्फ तीन चैंबरों को खोला गया था। इस दौरान दर्शनार्थियों को मंदिर में जाने की अनुमति नहीं होगी। जगन्नाथ मंदिर पुरी में स्थित है और हिन्दुओं के चार धामों में से एक है। तीन अन्य धाम बद्रीनाथ, द्वारका और रामेश्वरम हैं।

कौन जाएगा भंडारगृह में -

मंदिर के खजाने का नाम रत्न भंडार गृह है। इसमें 10 लोगों की टीम जाएगी। जो केवल ढांचागत स्थिरता और सुरक्षा के बारे में मुआयना करने जाएंगे। जो कि इसकी दीवारें, फलोर और छत को सुरक्षा के न‍जरिए से चेक करेंगे। इस टीम को किसी भी सदस्‍य को खजाने वाली संदूक को खोलने या हाथ लगाने की इजाजत नहीं होगी। इन 10 लोगों में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के दो विशेषज्ञ भी शामिल हैं। निरीक्षण टीम में पुरी के राजा गजपति महाराज दिव्यसिंह देव या उनके प्रतिनिधि और पत्तजोशी महापात्र भी शामिल होंगे।

क्‍या होंगे सुरक्षा के इंतजाम -

टीम के सभी सदस्यों को कोषागार में प्रवेश से पहले तीन लेवल की जांच से गुजरना होगा। पुलिस के अधिकारी टीम के सदस्यों की तलाशी लेंगे, जिससे कि वे कोई धातु या इलेक्ट्रानिक उपकरण न ले जा सकें। ये सभी लोग जब रत्न भंडार गृह में जाएंगे तो उससे पहले और बाद में अपनी तलाशी देंगे। रत्न भंडार गृह के अंदर जाने वालों को किसी भी प्रकार की सामग्री ले जाने की छूट नहीं होगी। हालांकि खजाना देखने वालों को ऑक्सीजन का सिलिंडर और टार्च ले जाने की इजाजत होगी। खजाने वाली जगह पर सांप होने की भी संभावना है। इसलिए पहले से ही सांप पकड़ने वालों को बुलवाया जाएगा ताकि कोई अनहोनी न हो पाए।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना