--Advertisement--

एसबीआई बंद कर रहा एटीएम कार्ड, चिप वाले ईवीएम कार्ड से होगा ट्रांजेक्शन, जानें क्या है इसमें खास

आरबीआई ने कहा- मैजिस्ट्रिप मैग्नेटिक डेबिट कार्ड सुरक्षित नहीं रहे इसलिए 31 दिसंबर से हो जाएंगे बंद।

Dainik Bhaskar

Aug 11, 2018, 04:59 PM IST
एसबीआई ने चलने रहे फरवरी 2017 से प एसबीआई ने चलने रहे फरवरी 2017 से प

नई दिल्ली. भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ग्राहकों के साथ हो रही धोखाधड़ी को रोकने के लिए वर्तमान में चल रहे एटीएम कार्ड को बंद कर ईएमवी चिप वाला डेबिट कार्ड देने की योजना बना रहा है। एसबीआई ने अधिकारिक ट्वीट कर इसकी सूचना दी है। वर्तमान में चल रहे मैजिस्ट्रिप (मैग्नेटिक) डेबिट कार्ड 31 दिसंबर से बंद हो जाएंगे।इनके बदले में ग्राहकों को ईएमवी चिप वाला डेबिट कार्ड लेना होगा। अगर कोई ग्राहक ईएमवी चिप वाला डेबिट कार्ड नहीं लेता है तो वह पुराने कार्ड से कोई काम नहीं कर पाएगा, क्योंकि एटीएम आपके कार्ड को स्वीकार नहीं करेगा।

ग्राहकों को क्या करना होगा ?

आधिकारिक ट्वीट में बैंक ने कहा है कि पुराने एटीएम कार्ड बदलकर उनकी जगह ईवीएम चिप वाला डेबिट कार्ड जारी किए जाएंगे। इन कार्डस को पाने के ग्राहकों को ऑनलाइन बैंकिंग से अप्लाई करना होगा। अगर कोई ऐसा नहीं कर पाता तो बैंक की ब्रांच में जाकर अप्लाई कर सकता है। एसबीआई ने चलने रहे फरवरी 2017 से पहले के एटीएम कार्ड को बंद कर दिया है।

एसबीआई क्यों बंद कर रहा है ऐसा ?

एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर ग्राहकों के साथ हो रही ठगी के बाद आरबीआई ने पाया था कि मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड पुरानी तकनीक हो चुकी है। और यह सुरक्षित भी नहीं है। इस कारण इन्‍हें बंद किया जा रहा है। इनकी जगह EMV चिप कार्ड को तैयार किए गए हैं।

ईवीएम चिप वाले कार्ड ज्‍यादा सुरक्षित हैं
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का कहना है कि ईवीएम चिप वाले कार्ड वर्तमान में चल रहे
डेबिट या क्रेडिट से ज्यादा सुरक्षित हैं। नए कार्ड में एक छोटी चिप लगी होगी, जिसमें आपके खाते की पूरी जानकारी होगी है। यह जानकारी इनक्रिप्टेड होती है, ताकि कोई इसके डाटा की चोरी न कर सकता। ईवीएम चिप वाले कार्ड में ट्रांजेक्‍शन के दौरान यूजर को सत्‍यापित करने के लिए एक यूनिक ट्रांजेक्‍शन कोड जनरेट होता है, जो वेरिफिकेशन को सर्पोट करता है जबकि मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड में ऐसा नहीं होता है।

X
एसबीआई ने चलने रहे फरवरी 2017 से पएसबीआई ने चलने रहे फरवरी 2017 से प
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..