--Advertisement--

सहवाग का खुलासा- BCCI को ईमेल लिख रहे थे ग्रेग चैपल, मैं बगल से बैठा था

भारतीय क्रिकेट इतिहास में सौरव गांगुली-ग्रेग चैपल विवाद को कौन भूल सकता है।

Danik Bhaskar | Apr 21, 2018, 05:48 PM IST

कोलकाता. भारतीय क्रिकेट इतिहास में सौरव गांगुली-ग्रेग चैपल विवाद को कौन भूल सकता है। इस विवाद ने भारत के क्रिकेट को काफी नुकसान पहुंचाया था। साथ ही गांगुली जैसा कप्तान भी खोना पड़ा था। लेकिन अब इस मामले में वीरेंद्र सहवाग ने एक नया खुलासा किया है। उन्होंने कहा है कि वो पहले शख्स थे, जिन्होंने 2005 में तत्कालीन कोच रहे चैपल का ईमेल देखा था। गांगुली को बताई थी ये बात...

- सहवाग ने बताया कि 2005 में जिम्बाब्वे दौरे पर ग्रेग चैपल तेजी से एक मेल टाइप कर रहे थे।

- ये मेल सौरव गांगुली के खिलाफ था और बीसीसीआई को किया जा रहा था।
- जब चैपल ये मेल लिख रहे थे, तब वह उनके बगल में बैठे थे। सहवाग ने ये बात तुरंत दादा को बताई थी। ये उस समय गंभीर मामला होने जा रहा था।

- चैपल को 2005 में भारत का कोच बनाया गया था। इसके ठीक एक साल बाद गांगुली को जिम्बाब्वे दौरे पर कप्तानी से हटा दिया गया।
- सहवाग ने ये खुलासा कोलकाता के फैनेटिक स्पोर्ट्स म्यूजियम में बोरिया मजुमदार की बुक इलेवन गॉड्स और 'बिलियन इंडियंस' के बंगाली वर्जन के लॉन्च के मौके पर किया।


चैपल प्रकरण पर टॉप क्रिकेटर्स भी कर चुके हैं खुलासे
- सचिन तेंदुलकर की आत्मकथा 'प्लेंइग इट माई वे' में चैपल के बारे में लिखा गया है।
- इसमें हरभजन सिंह ने कहा है कि भारतीय क्रिकेट का चैपल ने इतना नुकसान किया था, इससे उबरने में तीन साल लग गए थे।
- वहीं, इस जहीर खान ने कहा था कि चैपल अपना पर्सनल एजेंडा चलाते थे।