देश

--Advertisement--

अफरीदी के बाद शोएब अख्तर का कश्मीर पर बयान, बोले- कब तक खून-खराबे के बीच जिएंगे

कश्मीर में 1 अप्रैल को 12 आतंकी मारे गए थे। अफरीदी ने इन्हें बेगुनाह बताया था।

Dainik Bhaskar

Apr 07, 2018, 10:51 PM IST
शोएब अख्तर ने पाकिस्तान और भारत सरकार से कश्मीर मसले काे सुलझाने की अपील की। -फाइल शोएब अख्तर ने पाकिस्तान और भारत सरकार से कश्मीर मसले काे सुलझाने की अपील की। -फाइल

नई दिल्ली. पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी के बाद शनिवार को शोएब अख्तर ने कश्मीर को लेकर बयान दिया। अख्तर ने कहा, "दोनों देश की सरकारों को इस (कश्मीर) मसले पर बात करनी चाहिए। आखिर कब तब हम खून-खराबे के माहौल में जिएंगे? क्या हम अपने बच्चों को ऐसे माहौल में रखना चाहते हैं? इसको 70 साल हो गए हैं, दोनों अोर जानें जा रही हैं।'' बता दें कि 1 अप्रैल को कश्मीर में सुरक्षाबलों ने 12 आतंकियों को ढेर किया था। इस पर अफरीदी ने ट्वीट किया था कि कश्मीर में बेगुनाह लोग मारे जा रहे हैं। इसके बाद वे सचिन तेंडुलकर समेत कई भारतीय क्रिकेटरों के निशाने पर अाए थे।

'अफरीदी ने जो कहा वह उनका नजरिया'

- शोएब अख्तर ने न्यूज एजेंसी को दिए इंटरव्यू में कहा, "कश्मीर को लेकर अफरीदी ने जो कहा वह उनका नजरिया है। मेरे नजरिये से तो अनसुलझे मुद्दे को लेकर बात करनी चाहिए। मुझे समझ नहीं आता कि दोनों देश के युवा यह क्यों नहीं समझ रहे कि मसले को सुलझाने के लिए बात करना और अागे बढ़ना कितना जरूरी है।''
-"समस्या यह है कि भारत और पाकिस्तान के युवा एक-दूसरे से नफरत करते हैं। वो मसले को हल करने को लेकर बात नहीं करते, लेकिन अगर वो बात नहीं करेंगे तो 70 साल से अटके मुद्दे को लेकर कौन बात करेगा।"
- अख्तर ने कहा, "जब तक हम समस्या पर बात नहीं करेंगे तब तक हालात शांत नहीं होंगे। हम एक दूसरे को नफरत करते हुए चोट पहुुंचाना जारी रखेंगे। मैं इस नफरत से तंग आ गया हूं। भारत और पाकिस्तान जैसी नफरत मैंने दुनिया के किसी हिस्से में नहीं देखी।"

अफरीदी ने की थी यूएन से हस्तक्षेप की मांग

- अफरीदी ने 3 अप्रैल को किए ट्वीट किया था, "भारत के कब्जे वाले कश्मीर में हालत खराब और चिंताजनक हैं, वहां की सरकार बेगुनाहों को गोली मार रही है। वहां आजादी की आवाज को दबाया जा रहा है। लेकिन हैरानी है कि यूएन और दूसरी इंटरनेशनल संस्थाएं कहां हैं, वे खून-खराबा रोकने के लिए कोई कोशिश क्यों नहीं कर रहीं?''

सबसे पहले गंभीर ने दिया था अफरीदी को जवाब
- अफरीदी के ट्वीट के बाद गंभीर ने ट्वीट कर जवाब दिया था,'' मीडिया ने मुझसे शाहिद अफरीदी के हमारे कश्मीर और संयुक्त राष्ट्र(यूएन) वाले पर ट्वीट रिएक्शन मांगा, अब मैं इस पर क्या कहूं। अफरीदी उस यूएन की ओर देख रहे हैं, जिसका मतलब उनकी मंदबुद्धि डिक्शनरी के मुताबिक 'अंडर नाइन्टीन' होता है और जो कि उनकी एज ग्रुप है। इस मामले में मीडिया आराम कर सकता है, क्योंकि अफरीदी नो बॉल पर मिले विकेट को सेलिब्रेट कर रहे हैं।'

किसी बाहरी को इस बारे में बताने जरूरत नहीं: सचिन
- अफरीदी के ट्वीट का सचिन ने 4 अप्रैल को जवाब दिया था। उन्होंने कहा था कि देश चलाने के लिए हमारे पास काबिल लोग हैं। किसी बाहरी को इस बारे में बताने या जानने की जरूरत नहीं है कि हमें क्या करना है।

देश का विरोध करने वाले के समर्थन में नहीं: विराट
- विराट कोहली ने 4 अप्रैल को कहा था, ''एक भारतीय होने के नाते आप हमेशा वही कहना पसंद करेंगे जो देश के हित में हो और मैं भी हमेशा देशहित में सोचता और बोलता हूं। अगर कोई इसका विरोध करता है, तो मैं कभी उसका समर्थन नहीं करूंगा।''

अफरीदी को सचिन तेंडुलकर और गौतम गंभीर ने करारा जवाब दिया था। -फाइल अफरीदी को सचिन तेंडुलकर और गौतम गंभीर ने करारा जवाब दिया था। -फाइल
X
शोएब अख्तर ने पाकिस्तान और भारत सरकार से कश्मीर मसले काे सुलझाने की अपील की। -फाइलशोएब अख्तर ने पाकिस्तान और भारत सरकार से कश्मीर मसले काे सुलझाने की अपील की। -फाइल
अफरीदी को सचिन तेंडुलकर और गौतम गंभीर ने करारा जवाब दिया था। -फाइलअफरीदी को सचिन तेंडुलकर और गौतम गंभीर ने करारा जवाब दिया था। -फाइल
Click to listen..