देश

--Advertisement--

केरल: 60 हजार बाढ़ पीड़ित शिविरों में, बारिश से राहत कार्य में परेशानी; केंद्र देगा 100 करोड़ की मदद

केरल के 14 में से 10 जिलो बाढ़ और बारिश से तबाही हुई

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 09:59 PM IST
राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री विजयन के साथ बाढ़ का जायजा लिया। राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री विजयन के साथ बाढ़ का जायजा लिया।

- राजनाथ ने कोचीन एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री पी विजयन और मंत्रियों के साथ बैठक की

कोच्चि. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को बाढ़ के संकट से जूझ रहे केरल का हवाई सर्वे किया। वे एर्नाकुलम जिले के एक राहत शिविर का जायजा लेने गए और पीड़ितों की परेशानियां सुनीं। उन्होंने कहा कि राज्य में बाढ़ के चलते हालात गंभीर हैं। केंद्र सरकार इससे निपटने के लिए केरल की हर संभव मदद के लिए तैयार है। राजनाथ ने 100 करोड़ रुपए के राहत पैकेज का ऐलान भी किया। केरल के राहत शिविरों में 60 हजार लोग मौजूद हैं।

24 घंटे बाद रविवार सुबह से केरल के कुछ हिस्सों में फिर पानी बरसने लगा। इससे बाढ़ और भूस्खलन से प्रभावित इलाकों में राहत और बचाव कार्य में परेशानी आई। उधर, इडुक्की और इडामलायर डैम का जलस्तर थोड़ा कम हुआ। प्रशासन ने कहा कि डैम में पानी नियंत्रित है और लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। हालांकि, केरल के इडुक्की, वायनाड समेत 7 जिलों में 13 और 14 अगस्त के लिए रेड अलर्ट है।

निशुल्क बदले जाएंगे पासपोर्ट : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि केरल की बाढ़ में जिन लोगों के पासपोर्ट को नुकसान पहुंचा है, सरकार उन्हें बदलने के लिए कोई शुल्क नहीं लेगी। उधर, द्रमुक नेता एमके स्टालिन ने एक करोड़ रुपए केरल के मुख्यमंत्री कोष में जमा कराने की बात कही। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीसामी भी केरल के लिए पांच करोड़ की राहत का ऐलान कर चुके हैं।

चार दिन में 37 लोगों की जान गई : राज्य में 8 अगस्त को भारी बारिश शुरू होने के बाद शनिवार तक 37 लोगों की मौत हुई। जबकि 60 हजार लोग बेघर हो गए, इनके लिए करीब 450 राहत शिवर बनाए गए हैं। बाढ़ प्रभावित इडुक्की, कन्नूर, कोझीकोड, पनामारम, वायनाड और मलप्पुरम जिलों में राहत और बचाव के लिए सेना की 10 टुकड़ियां, मद्रास रेजिमेंट की एक यूनिट के साथ नौसेना, वायुसेना और एनडीआरएफ के जवान तैनात हैं।

इडुक्की के पांचों गेट खोले गए : 40 साल में पहली बार शुक्रवार को इडुक्की बांध के सभी पांचों गेट खोल दिए गए। इससे हर सेकंड पांच लाख लीटर पानी छोड़ा गया। रविवार सुबह डैम का जलस्तर 2399 फीट रिकॉर्ड हुआ। मुख्यमंत्री विजयन ने बताया कि पेरियार नदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में इडुक्की बांध से तय सीमा से तीन गुना पानी छोड़ने की जरूरत है।

8 अगस्त से लगातार बारिश के चलते इडुक्की डैम के गेट खोलने पड़े। 8 अगस्त से लगातार बारिश के चलते इडुक्की डैम के गेट खोलने पड़े।
केरल में बाढ़ से करीब 60 हजार लोग बेघर हो गए। केरल में बाढ़ से करीब 60 हजार लोग बेघर हो गए।
X
राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री विजयन के साथ बाढ़ का जायजा लिया।राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री विजयन के साथ बाढ़ का जायजा लिया।
8 अगस्त से लगातार बारिश के चलते इडुक्की डैम के गेट खोलने पड़े।8 अगस्त से लगातार बारिश के चलते इडुक्की डैम के गेट खोलने पड़े।
केरल में बाढ़ से करीब 60 हजार लोग बेघर हो गए।केरल में बाढ़ से करीब 60 हजार लोग बेघर हो गए।
Click to listen..