देश

  • Home
  • National
  • Special court summons Vijay Mallya on Aug 27 under fugitive offenders ordinance
--Advertisement--

भगोड़ा आर्थिक अपराध अध्यादेश के तहत विजय माल्या को कोर्ट का नोटिस, 27 अगस्त को पेश होने को कहा

शराब कारोबारी विजय माल्या बैंकों का कर्ज चुकाए बिना 2016 में लंदन भाग गया था।

Danik Bhaskar

Jun 30, 2018, 08:14 PM IST

  • विजय माल्या 2 साल से लंदन में है और वहां की अदालत में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों को चुनौती दे रहा है
  • प्रवर्तन निदेशालय ने माल्या को भगोड़ा अपराधी घोषित करने की मांग की थी

मुंबई. बैंकों के नौ हजार करोड़ के कर्जदार विजय माल्या को विशेष अदालत ने शनिवार को भगोड़ा आर्थिक अपराध अध्यादेश के तहत नोटिस जारी किया। कोर्ट ने माल्या को 27 अगस्त को हाजिर होने के लिए कहा है। नए अध्यादेश के तहत कार्रवाई का यह पहला मामला है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 22 जून को कोर्ट से इस अध्यादेश के तहत कार्रवाई करने की अपील की थी। अगर माल्या कोर्ट में हाजिर नहीं होता है, तो उसे भगोड़ा आर्थिक अपराधी मान लिया जाएगा। इसके बाद ईडी माल्या की संपत्तियों पर कार्रवाई कर सकेगा।

ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पिछले दिनों माल्या के खिलाफ दूसरी चार्जशीट दायर की गई थी। जांच एजेंसी ने इसमें माल्या की 12 हजार 500 करोड़ की संपत्ति जब्त करने की मांग की थी। इसके बाद 27 जून को माल्या ने कहा था, ''बैंकों का कर्ज चुकाने के लिए मैंने हर मुमकिन कोशिश की। अपना पक्ष रखने के लिए 15 अप्रैल 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अरुण जेटली दोनों को खत लिखा, लेकिन दोनों की तरफ से कोई जवाब नहीं मिला। मुझे धोखाधड़ी का पोस्टर ब्वॉय बना दिया गया। मुझ पर मीडिया और नेताओं ने इस तरह इल्जाम लगाया, जैसे मैं नौ हजार करोड़ चुराकर भाग गया। ये रकम किंगफिशर एयरलाइंस को कर्ज दी गई थी। कर्ज देने वाले कुछ बैंकों ने भी मुझ पर विलफुल डिफॉल्टर जैसा तमगा लगा दिया। मैं जनता के गुस्से की ज्वलंत वजह बन गया।''

अप्रैल में अध्यादेश को मंजूरी मिली: मोदी सरकार ने 13 मार्च को भगोड़ा आर्थिक अपराध बिल लोकसभा में पेश किया था। इसके बाद अप्रैल में इसे अध्यादेश के तौर पर कैबिनेट की मंजूरी मिली। इसके तहत धोखाधड़ी या लोन डिफॉल्ट करने के बाद विदेश भागने वालों की संपत्ति जब्त करने का प्रावधान है। यह उन डिफॉल्टरों पर लागू होगा जिन पर 100 करोड़ रुपए या इससे ज्यादा बकाया है।

2016 में भारत से भागा था माल्या: 31 जनवरी 2014 तक माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस पर बैंकों का 6,963 करोड़ रुपए बकाया था। इस कर्ज पर ब्याज के बाद कुल देनदारी 9000 करोड़ रुपए से ज्यादा हो गई। माल्या मार्च 2016 में भारत से भाग गया था। तब उसने यह कहा था कि वह अपने बच्चों के पास जा रहा है। हालांकि, बाद में उसने भारत लौटने से इनकार कर दिया। भारत सरकार की ओर से जारी वारंट पर कार्रवाई करते हुए माल्या को पिछले साल 18 अप्रैल को लंदन में गिरफ्तार किया गया था। उसे तुरंत जमानत मिल गई थी।

Click to listen..