--Advertisement--

वाराणसी एयरपोर्ट पर स्पाइस जेट और इंडिगो विमान टकराने से बचे, एयर ट्रैफिक कंट्रोल की चौकसी से टला हादसा

एयर ट्रैफिक कंट्रोल के अलर्ट के बाद इंडिगो विमान के पायलट ने उड़ान रद्द कर दी, जिससे हादसा टल गया।

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2018, 06:31 PM IST
इससे पहले 21 मई को  विशाखापट्टनम-बेंगलुरु रूट पर वायु सेना का जेट और इंडिगो का विमान 24000 फीट की ऊंचाई पर 300 फीट तक करीब आ गए थे। -फाइल इससे पहले 21 मई को विशाखापट्टनम-बेंगलुरु रूट पर वायु सेना का जेट और इंडिगो का विमान 24000 फीट की ऊंचाई पर 300 फीट तक करीब आ गए थे। -फाइल

  • एयरपोर्ट निदेशक ने बताया, स्पाइस जेट के विमान के तय स्थान से आगे आने के कारण यह स्थिति बनी
  • स्पाइस जेट के प्रवक्ता ने बताया, दो पायलटों के नियमों की अनदेखी के चलते हटा दिया गया है

वाराणसी. उत्तर प्रदेश के वाराणसी एयरपोर्ट के रनवे पर मंगलवार को स्पाइस जेट और इंडिगो विमान आपस में टकराने से बच गए। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इंडिगो विमान 178 यात्रियों के साथ मुंबई के लिए उड़ान भरने ही वाला था, उसी वक्त स्पाइस जेट का विमान रनवे पर होल्डिंग प्वाइंट (अपने रुकने की जगह) से आगे निकल गया। हालांकि, एयर ट्रैफिक कंट्रोल के अलर्ट के बाद इंडिगो विमान के पायलट ने उड़ान रद्द कर दी, जिससे हादसा टल गया।

स्पाइस जेट के दो पायलट हटाए गए

- स्पाइस जेट के प्रवक्ता ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर दो पायलटों के नियमों की अनदेखी के चलते यह स्थिति बनी। इन पायलटों को हटा दिया गया है।

- उन्होंने बताया, मामले को गंभीरता से लेते हुए, जांच डीजीसीए को सौंप दी गई है, जो इस मामले में उचित फैसला लेगा।

विमान टकराने की आशंका की खबर निराधार- एयरपोर्ट प्रशासन
- वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री एयरपोर्ट प्रशासन ने स्पाइस जेट और इंडिगो विमानों के आपस में टकराने की आशंका को निराधार बताया। निदेशक अनिल कुमार राय ने कहा कि स्पाइस जेट के विमान के तय स्थान से आगे आने के कारण यह स्थिति बनी।
- राय ने बताया कि यह सही है कि स्पाइस जेट (एसजी-705) के पायलट ने हवाई यातायात नियमों का उल्लंघन करते हुए विमान को होल्डिंग प्वाइंट से आगे बढ़ा दिया था, लेकिन उस वक्त उड़ान भर रहे इंडिगो विमान से टकराने की स्थिति नहीं थी।

मई में भी टले थे इंडिगो विमान के दो बड़े हादसे

-21 मई को वायु सेना का जेट और इंडिगो का विमान 24000 फीट की ऊंचाई पर दुर्घटना का शिकार होने से बचे थे। दोनों विमान एक-दूसरे से 300 फीट की दूरी पर आ गए थे। तभी रेजोल्यूशन एडवाइजरी (ऑटोमैटिक अलर्ट) जारी होने के बाद इंडिगो पायलट विमान को सुरक्षित दूरी पर ले गया। जिससे यह हादसा टल गया था।
- इससे पहले 2 मई को ढाका के हवाई क्षेत्र में इंडिगो-एअर डेक्कन एयरलाइन्स के बीच दूरी सिर्फ 700 फीट रह गई थी। हादसा रेजोल्यूशन एडवाइजरी की वजह से टल गया था।

स्पाइस जेट के प्रवक्ता ने बताया, मामले की गंभीरता को देखते हुए दो पायलटों को हटा दिया गया है। -फाइल स्पाइस जेट के प्रवक्ता ने बताया, मामले की गंभीरता को देखते हुए दो पायलटों को हटा दिया गया है। -फाइल
X
इससे पहले 21 मई को  विशाखापट्टनम-बेंगलुरु रूट पर वायु सेना का जेट और इंडिगो का विमान 24000 फीट की ऊंचाई पर 300 फीट तक करीब आ गए थे। -फाइलइससे पहले 21 मई को विशाखापट्टनम-बेंगलुरु रूट पर वायु सेना का जेट और इंडिगो का विमान 24000 फीट की ऊंचाई पर 300 फीट तक करीब आ गए थे। -फाइल
स्पाइस जेट के प्रवक्ता ने बताया, मामले की गंभीरता को देखते हुए दो पायलटों को हटा दिया गया है। -फाइलस्पाइस जेट के प्रवक्ता ने बताया, मामले की गंभीरता को देखते हुए दो पायलटों को हटा दिया गया है। -फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..