--Advertisement--

सूरत में 9 साल की बच्ची की बॉडी मिली, जिस्म पर 86 जख्म; पोस्टमॉर्टम में 8 दिन तक रेप होने की पुष्टि

6 अप्रैल को सूरत में एक क्रिकेट ग्राउंड के पास पुलिस को 9 साल की बच्ची की बॉडी मिली थी।

Danik Bhaskar | Apr 14, 2018, 08:30 PM IST
पुलिस ने कहा कि बच्ची के माता-पिता का अभी पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने कहा कि बच्ची के माता-पिता का अभी पता नहीं चल पाया है।

सूरत. पुलिस ने क्रिकेट ग्राउंड के पास से 11 साल की बच्ची की बॉडी बरामद की। बॉडी पर 86 जख्म मिले, निजी अंगों में भी गंभीर चोटें पाई गईं। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, करीब 5 घंटे तक चले पोस्टमॉर्टम में इस बात की पुष्टि हुई है कि बच्ची के साथ रेप किया गया और उसे प्रताड़ित किया गया। बच्ची की पहचान अभी नहीं हो पाई है और ना ही किसी ने बॉडी पर अपना दावा किया है।

फोरेंसिक लैब भेजे गए सैम्पल
- पुलिस ने 6 अप्रैल को बच्ची की बॉडी मिली थी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया कि करीब 8 दिन तक बच्ची के साथ रेप किया गया और उसे प्रताड़ित किया गया। इसके चलते उसकी मौत हो गई।
- सिविल हॉस्पिटल के फॉरेंसिक हेड गणेश गोवेकर ने कहा, "बच्ची के बदन पर जख्म के 86 निशान थे। उसके निजी अंगों में भी चोट पाई गई। फोरेंसिक लैब में सैम्पल भेजे गए हैं ताकि ये निश्चित किया जा सके कि उसे नशीली दवाएं दी गई थीं या नहीं।"

जानकारी देने वाले को मिलेंगे 20 हजार
- पुलिस इंस्पेक्टर एमवी झाला ने कहा, "घटना के 8 दिन बाद भी बच्ची के माता-पिता का पता नहीं चल पाया है। हमें लगता है कि बच्ची का मर्डर कहीं और किया गया और उसकी लाश यहां फेंक दी गई। उसकी तस्वीर पुलिस कंट्रोल रूम में भेज दी गई है ताकि उसकी पहचान की जा सके। रेप और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। बच्ची या उसके परिवार के बारे में जानकारी देने वाले को 20 हजार का ईनाम देने का ऐलान किया गया है।100 पर्चे चिपकवाए गए हैं। सोशल मीडिया की भी मदद ली जा रही है। उड़ीसा, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश में भी संपर्क किया गया है। शातिर अपराधियों से भी पूछताछ की जा रही है।"

कठुआ में भी हुआ था 8 साल की बच्ची से रेप
- कठुआ जिले के रासना गांव में अल्पसंख्यक बकरवाल समुदाय की 8 साल की बच्ची से जनवरी में बंधक बनाकर कई दिनों तक गैंगरेप किया गया। बाद में उसकी बेरहमी से हत्या कर दी।
- गांव में स्थित एक मंदिर के 60 साल का सेवादार सांझी राम समेत 8 लोग आरोपी हैं। सभी को गिरफ्तार किया जा चुका है।
- 10 अप्रैल को इस मामले में चार्जशीट दाखिल की गई। तब वकीलों ने पुलिस को चार्जशीट दाखिल करने से रोका। इसके बाद ही इस मामले ने तूल पकड़ा।

राहुल ने आधी रात को कैंडल मार्च किया था, पीएम बोले- बेटियों के साथ न्याय होगा

- कठुआ में 8 साल की बच्ची से दरिंदगी और उन्नाव में दुष्कर्म की घटनाओं के विरोध में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 12 अप्रैल को इंडिया गेट पर आधी रात को कैंडल मार्च निकाला था। इस प्रदर्शन में प्रियंका वाड्रा, राॅबर्ट वाड्रा समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता-कार्यकर्ता और आम लोग शामिल हुए थे।
- नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा, "पिछले दो दिन से जो घटनाएं चर्चा में हैं, वो निश्चित रूप से किसी भी सभ्य समाज को शोभा नहीं देतीं। ये शर्मनाक हैं। एक समाज के रूप में, एक देश के रूप में, हम सब इस के लिए शर्मसार हैं। मैं देश को विश्वास दिलाना चाहता हूँ की कोई अपराधी बचेगा नहीं, न्याय होगा और पूरा होगा।’

कठुआ और उन्नाव में हुई रेप की घटनाओं के विरोध में राहुल गांधी ने इंडिया गेट पर आधी रात को कैंडल मार्च निकाला था। - फाइल कठुआ और उन्नाव में हुई रेप की घटनाओं के विरोध में राहुल गांधी ने इंडिया गेट पर आधी रात को कैंडल मार्च निकाला था। - फाइल