• Hindi News
  • National
  • What Is Good Touch And Bad Chat ? 10 Ways Parents Can Explain To Children

इन 10 तरीकों से बच्चों को समझाएं गुड टच और बैड टच में फर्क, 1098 पर कॉल करने पर मौके पर पहुंच जाएगी चाइल्ड लाइन की टीम

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. मासूम बच्चियों के साथ हो रही दुष्कर्म की घटनाओं से पता चलता है कि उनका यौन शोषण करने वाला कोई नजदीकी आदमी ही होता है। जिसके झांसे में बच्चे/बच्चियां आसानी से आ जाते हैं। अधिकतर मामलों में देखा जाता है कि कोई पड़ोसी या फिर रिश्तेदार यहां तक कि कई बार बुजुर्ग भी बैड टच कर बच्चे/बच्चियों का यौन उत्पीड़न करते हैं। जिस चीज को मासूम समझ नहीं पाते। इसलिए पैंरेट्स को चाहिए कि वो बच्चों के स्कूल और मोहल्ले में लोग से मिलने उठने- बैठने के दिनभर के रुटीन के बारे में जानकारी लें। इससे आप आसानी से समझ सकते हैं कि बच्चे या बच्ची के साथ क्या हो रहा है? बच्चों को कैसे समझाएं गुड टच और बैड टच में फर्क ? इसके लिए भोपाल चाइल्ड लाइन की डायरेक्टर अर्चना सहाय बता रही हैं 10 आसान तरीके : 

 

गुड टच क्या है ?
अगर कोई आपको टच करता है और आपको अच्छा लगता है या स्नेह की अनुभूति होती है तो यह गुड टच कहलाता है। इसको आप अपनी मां, पिता, बड़ी बहन, दादी के टच से फील कर सकते हैं। 

 

बैड टच क्या होता है ?
जब कोई व्यक्ति आपको इस तरह से छूता है कि आप इससे असहज महसूस करते हैं या फिर उस व्यक्ति का छूना आपको बुरा लगता है। यह बैड टच कहलाता है। इसके साथ ही अगर कोई अनजान व्यक्ति आपके प्राइवेट पार्टस को छूने का प्रयास करता है तो यह भी बैड टच है। तीसरी कंडीशन में अगर कोई व्यक्ति आपको इस तरह से छूता है जिस पर आप असहज हो जाते हैं और वह व्यक्ति आपको इसके बारे में किसी से ना बताने के लिए कहता है, यह बैड़ टच है।

खबरें और भी हैं...