--Advertisement--

कर्नाटक में नाराज कांग्रेस विधायकों ने मंगलवार को बुलाई बैठक, येदियुरप्पा ने कहा- वे हमारे संपर्क में

मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने शुक्रवार को नाराज विधायकों से मुलाकात की थी। कहा था कि नाराज विधायक सही फैसला लेंगे।

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2018, 12:29 PM IST
कर्नाटक में जेडीएस (38) ने कांग्रेस (78) के साथ मिलकर सरकार बनाई है। भाजपा को 104 सीट मिलीं। -फाइल कर्नाटक में जेडीएस (38) ने कांग्रेस (78) के साथ मिलकर सरकार बनाई है। भाजपा को 104 सीट मिलीं। -फाइल

  • 6 जून को कांग्रेस के 14, जेडीएस के 9 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली थी।
  • कर्नाटक में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी (104 सीट) रही, लेकिन सरकार नहीं बना पाई

बेंगलुरु. कर्नाटक में मंत्री पद के बंटवारे को लेकर नाराज चल रहे कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेताओं और विधायकों ने मंगलवार को बैठक बुलाई है। इससे पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा ने दावा किया कि कांग्रेस के कुछ नाराज विधायक उनके संपर्क में हैं। हालांकि, उन्होंने विधायकों के नाम नहीं बताए। उधर, जेडीएस के 2 मंत्री भी मनमुताबिक विभाग न मिलने से खफा बताए जा रहे हैं। बता दें कि 6 जून को कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन वाली सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार हुआ था। इसमें 25 मंत्रियों ने शपथ ली थी। इनमें 14 कांग्रेस के, 9 जेडीएस के और एक-एक बसपा और निर्दलीय थे। कैबिनेट विस्तार के एक दिन बाद ही कांग्रेस के विधायकों और पूर्व मंत्रियों में असंतोष की बात सामने आई थी।

येदियुरप्पा ने कहा- कांग्रेस ने जेडीएस को दे दिए महत्वपूर्ण विभाग
- येदियुरप्पा ने कहा, "23 मई को जेडीएस-कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से ही प्रशासन में ठहराव आ गया है। कांग्रेस ने जेडीएस को महत्वपूर्ण विभाग देकर उसके सामने समर्पण कर दिया है। उसके (कांग्रेस) नेता अपनी ही पार्टी को निपटाने की कोशिश कर रहे हैं।"

- हालांकि, कांग्रेस के मंत्री डीके शिवकुमार ने येदियुरप्प के दावे को खारिज किया है। उन्होंने कहा, "येदियुरप्पा को हार स्वीकार करनी चाहिए। जनता ने उन्हें बहुमत नहीं दिया है। कुछ नेता नाखुश जरूर हैं। हम विधायकों के संपर्क में हैं। कुछ भी गलत नहीं होगा।"

जेडीएस के दो मंत्री भी नाराज

- समाचार एजेंसी के मुताबिक, जेडीएस के जीटी देवेगौड़ा (उच्च शिक्षा) और सीएस पुट्टाराजू (लघु सिचाई) अपने मंत्रालयों से खुश नहीं हैं। बता दें कि जीटी देवेगौड़ा ने चामुंडेश्वरी सीट से पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को मात दी थी। वहीं, सीएस पुट्टाराजू ने लोकसभा सीट छोड़कर मेलुकोटे से विधानसभा चुनाव लड़ा था।

कुमारस्वामी ने नाराज विधायकों से की थी मुलाकात
- मुख्यमंत्री कुमारस्वामी और उपमुख्यमंत्री जी. परमेश्वर ने शुक्रवार शाम नाराज विधायकों से मुलाकात की थी। इसके बाद कुमारस्वामी ने माना था कि कुछ कांग्रेसी विधायक असंतुष्ट हैं, लेकिन उम्मीद है कि वे सभी सही फैसला लेंगे।
- वहीं कांग्रेस के डी शिवकुमार ने भी माना था कि उनके कुछ वरिष्ठ नेता आहत हैं, लेकिन पार्टी ने मंत्री पदों के बंटवारे के लिए सभी विकल्पों को खुला रखा है।

पूर्व मंत्रियों समेत कई विधायकों ने की थी बैठक
- बता दें कि कांग्रेस के विधायक और पूर्व सरकार के मंत्रियों ने बेंगलुरु में शुक्रवार को एक बैठक रखी थी। इसमें 10 से ज्यादा विधायक शामिल थे। बताया जा रहा है कि ये विधायक मंत्री पद न मिलने से नाराज हैं।
- इसमें पूर्व मंत्री एमबी पाटिल के घर हुई इस बैठक में दिनेश गुंडु राव, रामालिंगा रेड्डी, आर रोशन, एचके पाटिल, तनवीर सैट, शमानूर सतीश जर्खीहोली शामिल थे।

23 मई को ली थी कुमारस्वामी ने शपथ
- एचडी कुमारस्वामी ने 23 मई को कर्नाटक के 24वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। उनके साथ कांग्रेस के जी. परमेश्वर ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। बता दें कि जेडीएस (38) ने कांग्रेस (78) के साथ मिलकर सरकार बनाई है। भाजपा को 104 सीट मिलीं।

येदियुरप्पा ने 17 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, 19 को फ्लोर टेस्ट के पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया। -फाइल येदियुरप्पा ने 17 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, 19 को फ्लोर टेस्ट के पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया। -फाइल
X
कर्नाटक में जेडीएस (38) ने कांग्रेस (78) के साथ मिलकर सरकार बनाई है। भाजपा को 104 सीट मिलीं। -फाइलकर्नाटक में जेडीएस (38) ने कांग्रेस (78) के साथ मिलकर सरकार बनाई है। भाजपा को 104 सीट मिलीं। -फाइल
येदियुरप्पा ने 17 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, 19 को फ्लोर टेस्ट के पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया। -फाइलयेदियुरप्पा ने 17 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, 19 को फ्लोर टेस्ट के पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया। -फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..