--Advertisement--

देश कर्नाटक में लोकतंत्र की हार का शोक मनाएगा: राहुल; शाह बोले- लोकतंत्र की हत्या तो कांग्रेस-जेडीएस ने की

कर्नाटक चुनाव में भाजपा को 104, कांग्रेस को 78 और जेडीएस को 38 सीटों पर जीत मिली।

Dainik Bhaskar

May 17, 2018, 04:12 PM IST
कांग्रेस अध्यक्ष ने कर्नाटक के सियासी ड्रामेबाजी को लेकर ट्वीट किया। -फाइल कांग्रेस अध्यक्ष ने कर्नाटक के सियासी ड्रामेबाजी को लेकर ट्वीट किया। -फाइल

- येदियुरप्पा की शपथ से पहले राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा- आज भाजपा अपनी खोखली जीत का जश्न मना रही है

- जेडीएस नेता कुमारस्वामी ने कहा- मोदी सरकार केंद्र की शक्तियों का गलत इस्तेमाल कर विधायकों को धमका रही ​

बेंगलुरु. कर्नाटक में बीएस येदियुरप्पा ने गुरुवार को बिना बहुमत के दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इसे लेकर कांग्रेस-जेडीएस और भाजपा के बीच सियासी घमासान मचा हुआ है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक में लोकतंत्र का मखौल उड़ाए जाने का आरोप लगाया। इस पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस-जेडीएस ने अवसरवादी गठबंधन कर लोकतंत्र की हत्या की। बुधवार रात 11 बजे राज्यपाल वजुभाई वाला ने बहुमत साबित करने के लिए येदियुरप्पा को 15 दिन का वक्त दिया। उधर, कांग्रेस और जेडीएस की अपील पर सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार सुनवाई करेगा। बता दें कि कर्नाटक चुनाव में भाजपा को 104, कांग्रेस को 78 और जेडीएस को 38 सीटें मिली हैं।

देश में लोकतंत्र का मखौल उड़ाया जा रहा

- कांग्रेस अध्यक्ष ने येदियुरप्पा के शपथ समारोह से 15 मिनट पहले ट्वीट किया, ''कर्नाटक में सरकार बनाने का भाजपा की मांग तर्कहीन है। यह साफ है कि उनके पास पर्याप्त बहुमत नहीं है, ऐसे में संविधान का मखौल उड़ाया जा रहा है। आज भाजपा अपनी खोखली जीत का जश्न मना रही है। देश लोकतंत्र की हार का शोक मनाएगा।''

कांग्रेस-जेडीएस का गठबंधन लोकतंत्र की हत्या

- अमित शाह ने जवाबी ट्वीट में कहा, ''लोकतंत्र की हत्या तो उसी वक्त हो गई थी, जब कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए जेडीएस के साथ अवसरवादी गठबंधन कर लिया था। यह सब कर्नाटक की भलाई के लिए नहीं बल्कि राजनीतिक फायदे के लिए हुआ, जो शर्मनाक है। चुनाव में 104 सीटों के साथ भाजपा को बहुमत मिला है। कांग्रेस पिछली बार की 122 सीटों से गिरकर 78 पर सिमट गई।''

केंद्र की शक्तियों का गलत इस्तेमाल: कुमारस्वामी

- जेडीएस नेता कुमारस्वामी ने कहा, ''मोदी सरकार केंद्र की शक्तियों का गलत इस्तेमाल कर रही है। मैं जानता हूं कि वे विधायकों को धमका रहे हैं। कांग्रेस विधायक आनंद सिंह ने कहा था कि उन पर शिकंजा कसने के लिए वे ईडी का इस्तेमाल करेंगे, उनके खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय का एक केस चल रहा है। हम सभी समर्थक विधायकों की सुरक्षा करेंगे। भाजपा उन्हें खरीदने की कोशिश में है, केंद्र का यह रवैया सबको पता चलना चाहिए।''

- ''भाजपा के बहुमत नहीं है, राज्यपाल ऐसा फैसला कैसे ले सकते हैं? वे अपने पद का दुरुपयोग कर रहे हैं। मैं अपने पिता और जेडीएस प्रमुख (एचडी देवेगौड़ा) से अपील करता हूं कि आगे आए और सभी क्षेत्रीय दलों से बात करें। देखें कि कैसे भाजपा लोकतांत्रिक व्यवस्था को खत्म कर रही है। आज हम सभी देश हित में एक साथ खड़े हैं।''

संघ के राज्यपाल से क्या उम्मीद कर सकते हैं: अमरिंदर

- पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, ''अल्पमत वाली भाजपा को सरकार बनाने का न्यौता देकर राज्यपाल ने लोकतंत्र और संविधान की हत्या की। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के राज्यपाल से आप उम्मीद भी क्या कर सकते हैं। यह भी आश्चर्यजनक है कि भाजपा को विश्वासमत हासिल करने के लिए 15 दिन का वक्त मिला है ताकि विधायकों की खरीदफरोख्त की जा सके।''
- ''जो कुछ हो रहा है वह न सिर्फ दुखद है ,बल्कि भारत के लिए खतरनाक भी है। हम नहीं चाहते कि पाकिस्तान भारत की तरह बने जहां तानाशाहों और सेना ने लोकतंत्र को हर कदम पर नुकसान पहुंचाया है।''

देश में लोकतंत्र बचा ही कहां है: शिवसेना

- शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कहा, ''बीएस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, पर उनके लिए बहुमत साबित करना आसान नहीं होगा। जिस पार्टी के सबसे ज्यादा विधायक होते हैं, राज्यपाल उसे सरकार बनाने के लिए बुलाते हैं। जब भी ऐसा होता है, लोग कहते हैं- लोकतंत्र की हत्या हो गई, लेकिन जब देश में लोकतंत्र बचा ही नहीं है तो हत्या किसकी होगी?''

विधायकों की खरीदफरोख्त को बढ़ावा मिला: कांग्रेस

- कांग्रेस ने आरोप लगाया कि येदियुरप्पा जिनके पास स्पष्ट बहुमत नहीं है। राज्यपाल वजुभाई वाला ने येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाकर विधायकों की खरीदफरोख्त को बढ़ावा दिया।

- कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने ट्वीट किया, ''मैं सुप्रीम कोर्ट को सलाम करता हूं। अगर मैं येदियुरप्पा की जगह होेता तो शुक्रवार सुबह 10.30 बजे तक शपथ नहीं लेता। मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में है।''
- ''राज्यपाल को दिए लेटर में येदियुरप्पा ने यह नहीं बताया है कि उनके समर्थन में 104 से ऊपर कितने विधायक हैं। येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त मिला है ताकि वो समर्थक 104 (भाजपा विधायक) को 111 में बदल सकें।''

ये भी पढ़ें...

शपथ ग्रहण के विरोध में विधानसभा के बाहर कांग्रेस का धरना, सिद्धारमैया ने कहा- सभी 118 विधायक हमारे साथ

जेठमलानी वकालत सन्यास के 10 महीने बाद सुप्रीम कोर्ट पहुंचे, कर्नाटक में राज्यपाल के फैसले को बताया बेतुका
कभी चावल मिल में क्लर्क थे येदियुरप्पा, आरोप लगने के बाद पार्टी-सीएम पद छोड़ा; तीसरी बार संभाली कुर्सी

अमित शाह ने ट्वीट कर राहुल गांधी को जवाब दिया। -फाइल अमित शाह ने ट्वीट कर राहुल गांधी को जवाब दिया। -फाइल
X
कांग्रेस अध्यक्ष ने कर्नाटक के सियासी ड्रामेबाजी को लेकर ट्वीट किया। -फाइलकांग्रेस अध्यक्ष ने कर्नाटक के सियासी ड्रामेबाजी को लेकर ट्वीट किया। -फाइल
अमित शाह ने ट्वीट कर राहुल गांधी को जवाब दिया। -फाइलअमित शाह ने ट्वीट कर राहुल गांधी को जवाब दिया। -फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..