चौंकाने वाला खुलासा : रोज सुबह दूध नहीं, जहर पी रहे हैं आप... क्योंकि देश में बिकने वाला 68.7 फीसदी दूध निकला नकली; अब सामने आया कैंसर का खतरा

dainikbhaskar.com | Sep 20,2018 13:28 PM IST

दूध को लेकर एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। देश में बिकने वाला 68.7 फीसदी दूध और दूध से बने प्रोडक्ट मिलावटी हैं। एनीमल वेलफेयर बार्ड के सदस्य मोहन सिंह अहलूवालिया ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि 89 फीसदी प्रोडक्ट में एक या दो तरह की मिलावट होती है। चौंकाने वाली बात ये है कि 31 मार्च 2018 तक देश में दूध का कुल उत्पादन 14.68 करोड़ लीटर रोजाना रिकॉर्ड किया गया, जबकि देश में दूध की प्रति व्यक्ति खपत 480 ग्राम प्रतिदिन है। इसमें सीधे 68 फीसदी का गैप है। दक्षिणी राज्यों के अलावा उत्तरी राज्यों में दूध में मिलावट के ज्यादा मामले सामने आए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी दूध में मिलावट के खिलाफ भारत सरकार के लिए एडवायजरी जारी कर चुका है। संगठन का कहना है कि, मिलावट नहीं रोकी गई तो देश की करीब 87 फीसदी आबादी 2025 तक कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी का शिकार हो सकती है।

70 साल की मां को घर के बाहर छोड़कर पत्नी के साथ घूमने चला गया बेटा, मां सड़क पर भटकने को हुई मजबूर; फिर कॉलोनी वालों ने जो किया उसकी जमकर हो रही तारीफ

dainikbhaskar.com | Sep 20,2018 00:02 AM IST

पश्चिम बंगाल में एक टीचर अपनी 70 साल की मां को सड़क पर छोड़कर पत्नी के साथ घूमने चला गया। घर में ताला लगा होने से बुजुर्ग मां को

कितना रिटर्न मिलता है उस स्कीम में जिसमें पीएम मोदी ने लगा रखे हैं अपने करोड़ों रुपए, SBI की इस स्कीम में लगाया है पैसा

dainikbhaskar.com | Sep 19,2018 18:10 PM IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास 2.3 करोड़ रुपए की चल और अचल संपत्ति है। यह अपडेट 31 मार्च 2018 तक का है। खुद ही पीएमओ की ओर से इसकी जानकारी दी गई है। पीएम के पास 48,944 रुपए कैश है। पिछले साल से यह 67% कम हुआ है। पिछले साल पीएम के पास 150000 रुपए कैश थे। पीएम मोदी ने किसी भी बैंक से किसी तरह का लोन नहीं लिया है। आज हम बता रहे हैं, पीएम ने जिस स्कीम में इन्वेस्ट कर रखा है, उसके बारे में। आप भी इसमें इन्वेस्टमेंट करके अच्छा रिटर्न पा सकते हैं।

खत्म हुआ बंधन... अब आप भी मोदी सरकार से पा सकते हैं 2.5 लाख रु ग्रांट; मेडिकल स्टोर खोलने की इच्छा रखने वालों के लिए आया ये डबल बोनांजा

dainikbhaskar.com | Sep 19,2018 15:41 PM IST

आप भी किसी रोजगार की तलाश में हैं तो प्रधानमंत्री जन औषधि योजना आपके लिए फायदेमंद हो सकती है। सरकार 1500 नए सेंटर खोलने की तैयारी में है। इन सेंटरों के जरिए सरकार सस्ते में जेनेरिक दवाएं बेचती है। इस स्कीम के तहत जन औषधि सेंटर खोलने पर मोदी सरकार की तरफ से करीब 2.5 लाख रुपए का अनुदान दिया जा रहा है। पहले सरकार ने इस स्कीम के तहत सिर्फ बी फॉर्मा और एम फार्मा कर चुके युवाओं को ही सेंटर खोलने की पात्रता दी थी लेकिन अब इन डिग्रीयों के बिना भी आप स्टोर खोल सकते हैं। इस सेंटर से होने वाली दवाओं की बिक्री पर सरकार 20 परसेंट कमीशन देती है। हम दे रहे हैं इस योजना के बारे में पूरी जानकारी।