• Hindi News
  • Interesting
  • 100 anemic children not available in Sidhi district hospital; Collector stops at his bungalow

मप्र / अस्पताल में 100 बच्चों को भर्ती करने की जगह नहीं थी, कलेक्टर ने अपने बंगले पर इलाज कराया



100 anemic children not available in Sidhi district hospital; Collector stops at his bungalow
X
100 anemic children not available in Sidhi district hospital; Collector stops at his bungalow

  • यह घटना सीधी जिले की है, कलेक्टर अभिषेक सिंह ने बच्चों की सुविधाओं का ख्याल रखा 
  • दस्तक अभियान के तहत जिले में 800 से ज्यादा बच्चे ऐसे मिले जिन्हें एनीमिया है, इन्हीं का इलाज किया जा रहा 

Dainik Bhaskar

Jul 18, 2019, 07:22 PM IST

सीधी (मध्यप्रदेश). सीधी में बुधवार को 100 से ज्यादा एनीमिया (खून की कमी) पीड़ित बच्चे जिला अस्पताल पहुंच गए। लेकिन, अस्पताल में बच्चों को भर्ती करने की जगह नहीं थी। स्वास्थ्य अधिकारियों ने इसकी सूचना कलेक्टर अभिषेक सिंह को दी। कलेक्टर ने उन सभी बच्चों को परिजन के साथ अपने आवास पर बुला लिया। यहीं इलाज कराया। साथ ही इनके ठहरने और खाने की व्यवस्था कराई।

 

दस्तक अभियान में अब तक जिले में 830 एनीमिया पीड़ित बच्चे मिले हैं। इन बच्चों का अस्पताल में खून चढ़ाया (ब्लड ट्रांसफ्यूजन) जाना है। कलेक्टर ने बताया कि दस्तक अभियान में प्रत्येक गंभीर एनीमिक बच्चे का ब्लड ट्रांसफ्यूजन किया जाएगा। बच्चे को अस्पताल लाने, ब्लड ट्रांसफ्यूजन करने, रुकने, भोजन तथा वापस घर पहुंचाने की व्यवस्था की गई है।

 

दो दिन में 800 से ज्यादा बच्चे आए 

सीधी के कलेक्टर अभिषेक सिंह ने बताया, "दो दिन में 800 से अधिक एनीमिक बच्चे आए हैं। ब्लड ट्रांसफ्यूजन के बाद 25 से 30 बच्चे बचे हैं। बाकी बच्चों को जिला अस्पताल, निजी अस्पताल और मानस भवन में रखा गया है। बुधवार को सिहावल क्षेत्र से सौ से अधिक बच्चे आ गए थे। उन्हें रखने के लिए स्थान नहीं था। मैंने बंगले में रुकने की व्यवस्था की है। इलाज के बाद इन्हें घर वापस छोड़ा जाएगा।" 

 

मुख्यमंत्री ने तारीफ की

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कलेक्टर की तारीफ की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "बच्चों के लिए सभी इंतजाम करना काबिलेतारीफ है।"

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना