टेस्टिंग / 17 हजार किमी की दूरी 20 घंटे में नॉन स्टॉप तय करने उड़ा विमान, यह दुनिया की सबसे लंबी यात्रा



प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • बोइंग 797-9 ड्रीमलाइनर विमान ने न्यूयॉर्क से सिडनी के लिए शुक्रवार को उड़ान भरी
  • क्वांटस एयरवेज की तीन परीक्षण उड़ानों में से यह पहली उड़ान है, जो सबसे लंबे समय तक हवा में रहेगी
  • हर उड़ान में 40-50 यात्रियों के साथ, पायलट, चालक दल के सदस्य, वैज्ञानिक और डॉक्टर मौजूद रहेंगे

Dainik Bhaskar

Oct 19, 2019, 02:01 PM IST

सिडनी.  ऑस्ट्रेलिया में सिडनी की क्वांटस एयरवेज अनोखा प्रयोग करने जा रही है। शुक्रवार को दुनिया की सबसे लंबी दूरी की यात्रा के लिए टेस्ट फ्लाइट ने न्यूयॉर्क से उड़ान भरी। यह विमान बिना रुके हवा में करीब 19-20 घंटे तक रहेगा। यह उन तीन निर्धारित टेस्ट फ्लाइट में से पहली फ्लाइट होगी, जो सिडनी से लंदन और न्यूयॉर्क के बीच नए हवाई मार्गों को कवर करने के लिए तय की गई है। बोइंग 797-9 ड्रीमलाइनर द्वारा संचालित यह उड़ान 17 हजार किमी की यात्रा तय करने के साथ हवा में सबसे लंबे समय तक रहने का रिकॉर्ड बनाएगी।

 

क्वांटस समूह के सीईओ एलन जॉयस ने कहा कि परीक्षण उड़ान के दौरान करीब 40-50 यात्रियों के साथ, पायलट, चालक दल के सदस्य, वैज्ञानिक और डॉक्टर मौजूद रहेंगे। इस परीक्षण उड़ान का मकसद एयरलाइन द्वारा वैज्ञानिक प्रोटोकॉल का उपयोग करके इंटरैक्टिव ऑनबोर्ड अनुसंधान का संचालन करना और मौजूदा अनुसंधान रणनीतियों को अगले स्तर तक ले जाना है।

 

लंबी उड़ान का सेहत पर असर 
इस तरह विमान में यह परीक्षण किया जाएगा कि इतनी लंबी उड़ान के दौरान यात्रियों की सेहत पर किस तरह का असर पड़ता है। परीक्षण उड़ान में ज्यादातर लोग एयरलाइंस के ही स्टॉफ होंगे। जॉयस ने बताया कि समूह के वॉलंटियर्स इस दौरान अपनी नींद, भोजन और पेय सेवन और शारीरिक गतिविधियों को किस तरह संचालित करते हैं, इसका अध्ययन किया जाएगा। 

 

2023 तक ऑस्ट्रेलिया से सीधी उड़ानें शुरू होंगी
आमतौर पर रात की उड़ानों के साथ, यात्रियों को टेक-ऑफ के तुरंत बाद रात का खाना दे दिया जाता है और फिर रोशनी बंद कर दी जाती है। लेकिन यह जरूरी नहीं कि किसी यात्री की बॉडी क्लॉक को रीसेट किया जा सके। क्वांटस एयरलाइंस ने पहले ही यह घोषणा कर दी है कि 2023 तक लंदन, न्यूयॉर्क और तीन ऑस्ट्रेलियाई शहरों सिडनी, ब्रिस्बेन और मेलबोर्न के बीच सीधी उड़ानों को शुरू किया जाएगा। परीक्षण उड़ान की सफलता के बाद नए बोइंग विमानों को यात्रा में शामिल किया जाएगा।

 

उड़ान के दौरान खाना और मनोरंजन की व्यवस्था
दुनिया की सबसे लंबी हवाई यात्रा के दौरान यात्रियों पर पड़ने वाले प्रभाव की जांच सिडनी और मोनाश यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता करेंगे। शोधकर्ता यात्रियों की नींद, सेहत और उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव को जांचेंगे। इसके लिए यात्रियों को अलग-अलग प्रकार का भोजन और पेय पदार्थ की व्यवस्था की गई है। उनके लिए विमान में प्रकाश और मनोरंजन का भी ध्यान रखा गया है। इस उड़ान के यात्रियों को सलाह दी गई है कि यात्रा के बाद वे अगले दो हफ्तों की दिनचर्या को नोट कर सुरक्षित रखें ताकि इस बात की जांच की जा सके कि वे यात्रा के बाद कैसा महसूस कर रहे हैं।

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना