• Hindi News
  • Interesting
  • A Dubai based American woman is teaching Malayalam to the world through her Instagram account

दुबई / अमेरिकी महिला लोगों को सिखा रहीं मलयालम, इंस्टाग्राम अकाउंट बना जरिया

Dainik Bhaskar

May 17, 2019, 09:02 AM IST



पति अर्जुन के साथ एलिजाबेथ मेरी केटोन पति अर्जुन के साथ एलिजाबेथ मेरी केटोन
एलिजाबेथ मेरी केटोन एलिजाबेथ मेरी केटोन
X
पति अर्जुन के साथ एलिजाबेथ मेरी केटोनपति अर्जुन के साथ एलिजाबेथ मेरी केटोन
एलिजाबेथ मेरी केटोनएलिजाबेथ मेरी केटोन

  • एलिजाबेथ की शादी केरल मूल के अर्जुन से हुई, पति की वजह से मलयालम से लगाव हुआ
  • खुद सीखने के दौरान बन बैठीं मार्गदर्शक, इंस्टाग्राम पर उनके 2000 फॉलोअर्स

दुबई. अमेरिकी मूल की महिला अपने इंस्टाग्राम अकाउंट के जरिए लोगों को मलयालम सिखा रही हैं। एलिजाबेथ मेरी केटोन उर्फ एलिशा को मलयालम से इतना प्यार है कि उन्होंने @eli.kutty के नाम से अपना अकाउंट बनाया है। उनका कहना है कि जब मलयालम सीखी तो पता चला कि केरल में उनके नाम एलि का मतलब चूहा होता है। उन्होंने नाम के आगे कुट्टी (थोड़ा) जोड़कर इसे और ज्यादा आकर्षक बना लिया।

 

शादी के बाद मलयालम से प्रेम जागा
एलिशा दुबई में रहती हैं। उनकी शादी केरल से ताल्लुक रखने वाले अर्जुन से हुई थी। एलिशा का कहना है कि पति को केरल की संस्कृति से बहुत लगाव है। उन्हें देखने के बाद वे मलयालम की तरफ आकर्षित हुईं। अर्जुन से उनकी मुलाकात सोशल मीडिया पर ही हुई थी।

 

एलिशा की भाषाएं सीखने की ख्वाहिश 

हालांकि, मिडिल ईस्ट में आने के बाद से ही वे तमिलनाडु और केरल मूल के कुछ लोगों के संपर्क में आ गई थीं। दूसरी भाषाओं को सीखने की ख्वाहिश उनके भीतर छोटी उम्र से ही है। एलिशा ने अमेरिका में रहने के दौरान जापानी, कोरियाई और स्पेनिश सीख ली थी। इससे पहले वे न्यू मैक्सिको यूनिवर्सिटी से एजुकेशन एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर डिग्री हासिल कर चुकी हैं। 

 

दुबई में टीचर हैं एलिशा

एलिशा दुबई स्थित अजमेन टेक्नोलॉजी हाईस्कूल में पढ़ाती हैं, जबकि उनके पति यूएई की एक साइबर सिक्योरिटी फर्म में डेवलपमेंट अफसर हैं। महिला का कहना है कि पहले वे स्काइप पर मलयालम के बारे में जानकारी जुटाती थीं। खाता बैन होने के बाद वे ऑनलाइन जाकर पाठ्य सामग्री इकट्ठा करने लगीं। आखिर में वे इंस्टाग्राम पर आईं। यहां उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला। 

 

लोगों की मलयालम सीखने की इच्छा देखकर उनकी टीचर बन गईं

एलिशा का कहना है कि सीखने के दौरान ही वे बहुत से ऐसे लोगों के संपर्क में आईं, जो मलयालम के बारे में जानकारी जुटाने के इच्छुक थे। इसी दौरान वे उनमें से कुछ लोगों की शिक्षक बन बैठीं। उनके फालोअर्स में वे लोग हैं, जो अर्सा पहले केरल छोड़कर विदेशों में बस गए और अब अपने बच्चों को मलयालम सिखाना चाहते हैं। उनके ऐसे भी फॉलोअर्स हैं जो विदेशी हैं, लेकिन उनकी शादी मलयाली भाषी से हुई है।

 

सास ने सिखाए मलयाली रीति-रिवाज

महिला का कहना है कि वे मलयामल से जुड़े वीडियो और अन्य सामग्री सोशल मीडिया पर शेयर करती हैं। अपनी सास से उन्हें काफी मदद मिलती है। वे वाट्सऐप पर उनसे जुड़ी हैं। केरल के रीति रिवाजों के बारे में उन्हें सास से ही जानकारी मिलती है। इसके अलावा वह रोजाना कुछ समय अपने पति अर्जुन के साथ केवल मलयालम में ही बात करती हैं।  

 

पति अर्जुन का कहना है कि एलिशा का मलयालम प्रेम वाकई हैरान करने वाला है। उसका भाषा के प्रति जो लगाव है, वे केरल में पैदा हुए लोगों में भी कम ही दिखाई देता है। खैर, एलिशा और मलयालम का संबंध गूगल पर भी दिख जाता है। अगर गूगल पर कोई लर्न मलयालम इंस्टाग्राम टाइप करता है तो गूगल तत्काल @eli.kutty दिखाता है। 

COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543