उपलब्धि / 54 घंटे में चार बार इंग्लिश चैनल पार किया, ऐसा करने वाली पहली महिला



सारा थॉमस। सारा थॉमस।
American woman becomes first person to swim across Channel four times non-stop
American woman becomes first person to swim across Channel four times non-stop
American woman becomes first person to swim across Channel four times non-stop
X
सारा थॉमस।सारा थॉमस।
American woman becomes first person to swim across Channel four times non-stop
American woman becomes first person to swim across Channel four times non-stop
American woman becomes first person to swim across Channel four times non-stop

  • अमेरिका की सारा थॉमस ने बिना रुके चार बार में 215 किलोमीटर की दूरी तय की
  • उन्होंने अपनी उपलब्धि कैंसर पीड़ितों को समर्पित की
  • सारा ब्रेस्ट कैंसर से पीड़ित थीं और एक साल पहले ठीक हुईं

Dainik Bhaskar

Sep 18, 2019, 05:37 PM IST

लंदन. अमेरिकन महिला सारा थॉमस बिना रुके तैरकर इंग्लिश चैनल चार बार पार करने वाली पहली महिला बन गई हैं। उन्होंने 54 घंटों में 215 किमी की दूरी तय की। सारा ने इंग्लैंड के कोलोराडो से तैरना शुरू किया था और मंगलवार सुबह 6.30 बजे अपना चौथा चक्कर डोवर तट पर खत्म किया। 37 साल की सारा ने एक साल पहले ब्रेस्ट कैंसर से जिंदगी की जंग जीती है।अपनी तैराकी पूरी करने के बाद सारा ने कहा, "मैं स्तब्ध हूं और सच कहूं तो मेरे पास शब्द नहीं है। मेरी आवाज जैसे बैठ गई है।"

 

सारा ने बताया, "तैरने के दौरान मुझे कई बार जैलीफिश का भी सामना करना पड़ा। हालांकि, अब भी मुझे यह विश्वास नहीं हो रहा है कि हमने यह कर दिखाया। पूरे 54 घंटे के दौरान मैंने इलेक्ट्रोल और कैफीन युक्त तरल पदार्थ लिए।"

 

aaa

 

समर्थकों ने शैंपेन और चॉकलेट देकर बधाई दी
सारा की तैराकी का एक लाइव वीडियो फेसबुक पर पोस्ट किया गया है, इसमें कोलोराडो तट पर लोगों की भीड़ सारा का उत्साह बढ़ा रही है, ताकि वह डोवर तट पहुंचकर अपना रिकॉर्ड कायम करें। समर्थकों ने सारा को शैंपेन और चॉकलेट देकर बधाई भी दी। हालांकि, डोवर पहुंचने पर सारा थोड़ी थकी-थकी नजर आईं। उन्होंने स्वीकार किया कि तैरने के दौरान समुद्र के खारे पानी ने उनकी सबसे ज्यादा मुश्किलें बढ़ाईं। इससे गले, मुंह और जीभ को ज्यादा नुकसान पहुंचा, लेकिन पति और साथ चलने वाली टीम ने समुद्री धारा और ठंडे पानी में उनका हौसला बढ़ाए रखा।

 

कैंसर से जूझने वालों को समर्पित की उपलब्धि
शनिवार को फेसबुक पोस्ट में थॉमस ने लिखा कि शुरुआत में वह डरी हुई थीं, लेकिन उनके भाग्य ने उनका पूरा साथ दिया। यह तैराकी उन लोगों को समर्पित है जो कैंसर पीड़ित रहे हैं और जिन्होंने कैंसर पीड़ितों की जिंदगी के लिए प्रार्थनाएं की हैं। यह उन लोगों के लिए भी है, जिन्होंने निराशा के बारे में सोचा और उस डर से लड़ने की हिम्मत दिखाई। यह उनके लिए है जिन्हें हाल ही कैंसर होने के बारे में पता चला है। उनके लिए भी जो कैंसर को किक लगाकर आगे बढ़े, हर उस प्रत्येक व्यक्ति के लिए जो इसे (कैंसर को) हराने वाला है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना