• Hindi News
  • Interesting
  • Student from Bengaluru got the rare opportunity of becoming British Deputy High Commissioner

कर्नाटक / बेंगलुरु की छात्रा एक दिन के लिए ब्रिटिश उप उच्चायुक्त बनीं, कहा- यह सम्मान की बात



ब्रिटिश उप उच्चायुक्त जेरेमी पिल्मोर बेडफोर्ड और अंबिका बनर्जी। ब्रिटिश उप उच्चायुक्त जेरेमी पिल्मोर बेडफोर्ड और अंबिका बनर्जी।
X
ब्रिटिश उप उच्चायुक्त जेरेमी पिल्मोर बेडफोर्ड और अंबिका बनर्जी।ब्रिटिश उप उच्चायुक्त जेरेमी पिल्मोर बेडफोर्ड और अंबिका बनर्जी।

  • पत्रकारिता की 24 साल की छात्रा अंबिका बनर्जी ने प्रतियोगिता जीती थी, शुक्रवार को पद ग्रहण किया 
  • पद ग्रहण कर अंबिका ने भारत-ब्रिटेन राजनयिक संबंधों, कारोबार और प्रेस से जुड़े काम का अध्ययन किया
  • दूसरी बार किसी भारतीय छात्रा को ब्रिटिश उप उच्चायुक्त बनने का मौका मिला

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2019, 02:19 PM IST

बेंगलुरु. इंटरनेशनल गर्ल चाइल्ड डे के मौके पर पत्रकारिता की छात्रा अंबिका बनर्जी को शुक्रवार को एक दिन का ब्रिटिश उप उच्चायुक्त बनने का मौका मिला। अंबिका ने ब्रिटिश उप उच्चायुक्त जेरेमी पिल्मोर बेडफोर्ड से पद भार लिया। इस दौरान 24 साल की अंबिका ने ब्रिटेन और भारत के बीच राजनयिक संबंधों के बारे में जाना। इससे पहले चार अक्टूबर को उत्तरप्रदेश के गोरखपुर की रहने वाली 22 साल की आयशा खान को एक दिन के लिए उच्चायुक्त बनाया गया था। 

 

अंबिका ने ब्रिटिश उप उच्चायुक्त के जिस पद को एक दिन के लिए संभाला वह भारत में ब्रिटेन का तीसरा सबसे बड़ा पद है। जिसका काम भारत सरकार और कारोबारियों के साथ देश हित से जुड़े मुद्दे सुलझाना होता है। ब्रिटेन, भारत में 'एक दिन का उच्चायुक्त' नियुक्त करने के लिए प्रतियोगिता करता है। इसमें 18 से 23 साल की महिला प्रतिभागी भाग लेती हैं। इस साल प्रतियोगिता में 14 राज्यों की लड़कियों ने भाग लिया था।

 

मैं पूरे दिन बिजी रही

अंबिका ने बताया, "यह सम्मान की बात है। मैं पहले बेंगलुरु स्थित ब्रिटिश उप उच्चायुक्त कार्यालय के सभी कर्मचारियों से मिली। फिर हम व्हाइटफील्ड में टेस्को गए। वहां हम विद्या लक्ष्मी से भी मिले, जो लैंगिक समानता के लिए काम कर रही हैं।" अंबिका ने कहा, "मैं यह नही कहूंगी कि यह एक दिन की बात है। यह रोज चलने वाला काम है। मैंने सीखा कि  इन पदों पर लोग कैसे काम करते हैं। भारत और ब्रिटेन के बीच राजनयिक संबंधों के लिए ऑफिस कैसे कार्य करता है। यह अनुभव बढ़िया था। मैंने खूब एन्जॉय किया।"

 

महिलाओं को बढ़ावा देने आयोजित किया था कॉन्टेस्ट

उप उच्चायुक्त बेडफोर्ड के मुताबिक, उम्मीदवार के चयन के लिए भारत में एक प्रतियोगिता कराई गई थी। इसमें कई युवतियों ने भाग लिया। हमने भारत में इसे दूसरी बार आयोजित किया। शुक्रवार को अंबिका ने पद संभाला और जाना कि ऑफिस में कैसे काम होता है। उन्होंने ब्रिटेन और कर्नाटक के बीच व्यापार संबंधों के अलावा राजनयिक काम, निवेश और प्रेस से जुड़े काम को जाना है।

 

DBApp

 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना