• Hindi News
  • National
  • Bicycle Thief Jailed; Judge's Order The Victim Had To Drive The Car, Causing Damage To The Environment

साइकिल चोर को जेल; जज का आदेश- पीड़ित को कार चलानी पड़ी, जिससे पर्यावरण को नुकसान हुआ

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
साइकिल चोर 1995 से 2019 के बीच 44 बार गिरफ्तार हो चुका है। - Dainik Bhaskar
साइकिल चोर 1995 से 2019 के बीच 44 बार गिरफ्तार हो चुका है।
  • बेल्जियम की कोर्ट ने चोर को तीन साल की सजा सुनाई, इसे इकोलॉजिकल क्राइम नाम दिया
  • ब्रसेल्स में ने अक्टूबर 2018 में एक साइकिल चोरी की थी, इसके खिलाफ पीड़ित ने शिकायत की थी

ब्रसेल्स. यूरोपीय देश बेल्जियम। इसकी आबादी 1.14 करोड़ है। यहां करीब 90 फीसदी लोग साइकिल का इस्तेमाल करते हैं ताकि पर्यावरण को प्रदूषित होने से रोक सकें। साथ ही फिट रह सकें। ऐसे में बेल्जियम की कोर्ट ने एक साइकिल चोर को तीन साल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने तर्क दिया कि साइकिल चोरी होने की वजह से पीड़ित को कार चलानी पड़ी। जिससे धुआं निकला और पर्यावरण प्रदूषित हुआ। 


कोर्ट ने इस सजा को ‘इकोलॉजिकल क्राइम’नाम दिया। दरअसल, ब्रसेल्स में 40 वर्षीय चोर ने अक्टूबर 2018 में एक साइकिल चोरी की थी। इसके खिलाफ पीड़ित ने शिकायत की थी। कुछ समय बाद पुलिस ने चोर को गिरफ्तार कर लिया और मामला कोर्ट पहुंचा। सुनवाई के दौरान जज ने कहा- आरोपी ने प्रदूषण बढ़ाने की भूमिका निभाई, जिसे अनदेखा नहीं किया जा सकता। इसलिए उसे जेल में तीन साल बिताने होंगे। इतना ही नहीं, जज ने आरोपी का केस लड़ने और उसका बचाव करने वाले वकील को भी सजा सुनाई।

आरोपी 44 बार गिरफ्तार होकर 12 साल की सजा काट चुका है
स्थानीय मीडिया के मुताबिक, साइकिल चोर 1995 से 2019 के बीच 44 बार गिरफ्तार हो चुका है। साथ ही इन मामलों में 12 साल की सजा काट चुका है। इसके बावजूद उसने साइकिल चुराना नहीं छोड़ा। उधर, यूनिवर्सिटी ऑफ एक्सेटर के प्रोफेसर कैटरियोना मैककिनोन ने कहा- चोर को सजा देना सही है। लेकिन पर्या‌वरण का हवाला देना नियम के खिलाफ है।

खबरें और भी हैं...