मिसाल / हंगरी का एक ऐसा रेलवे स्टेशन जहां सभी जिम्मेदारी बच्चे निभाते हैं



Budapest railway stations run by children in hungry
Budapest railway stations run by children in hungry
X
Budapest railway stations run by children in hungry
Budapest railway stations run by children in hungry

  • यह रेलवे स्टेशन बुडापेस्ट के पास जंगल में स्थित
  • बच्चे सिग्नल गार्ड, टिकट कार्यालय से लेकर टिकट चेक करने तक का काम करते हैं

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 11:19 AM IST

बुडापेस्ट. यूरोप के देश हंगरी की राजधानी बुडापेस्ट के ऊपरी हरी पहाड़ियों के जंगल में स्थित एक रेलवे स्टेशन में हर महत्वपूर्ण जिम्मेदारी बड़े नहीं, बल्कि बच्चे संभालते हैं। इस रेलवे स्टेशन पर सिग्नल गार्ड, टिकट कार्यालय से लेकर टिकट चेक करने तक का काम बच्चे ही संभालते हैं।

 

बच्चे कई बार आपको यूनिफॉर्म में तो कई बार बिना यूनिफॉर्म के ड्यूटी संभालते हुए दिखाई देंगे। सभी रेलवे स्टेशन के कर्मचारी के तौर पर कोई टिकट बेचता हुआ तो कोई उसे चेक करता हुए नजर आएंगे। ये ट्राम लाइन दुनिया की सबसे तेज और पुरानी ट्राम लाइन है। 
 

40 मिनट में 11 किलोमीटर का सफर
इस रेलवे स्टेशन में चलने वाली स्पेशल ट्रेन 11 किलोमीटर का सफर तय करती हैं। 40 से 50 सवारियों को लेकर जाती हैं। इस सफर के लिए यह ट्रेन 40 मिनट का समय लेती है। काफी लोग तो सिर्फ इसीलिए इस रेलवे स्टेशन आते हैं ताकि वे बच्चों को यहां का संचालन करते हुए देख सकें।

 

ये है कारण
ये ट्रेन साम्यवाद के दिनों की याद दिलाती है। जब हंगरी, सोवियत संघ का एक उपग्रह राज्य हुआ करता था, उस दौरान बच्चों को एक साथ काम करने और जिम्मेदारी सिखाने के लिए पायनियर रेलवे की शुरुआत की गई थी। उस वक्त नाबालिग ने व्यवस्कों की अंतर्गत रेलवे में काम करना शुरू कर दिया था। यही कारण है कि रेलवे स्टेशन को आज भी उसी तरह से संचालित किया जाता है।

 

ssss

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना