पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • By Half January, Instead Of 40, 8 Inches Of Snow Fell, The Trucks Being Brought In Snow For The Snow Festival

आधी जनवरी तक 40 के बजाय 8 इंच ही बर्फ गिरी, स्नो फेस्टिवल के लिए ट्रकों में भरकर लाई जा रही बर्फ

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इस बार तोकामाची प्रांत में भी दूल्हा-दुल्हन को बर्फ में फेंकने का पारंपरिक इवेंट नहीं हो पाएगा।
  • 1961 से अब तक की यह सबसे कम बर्फबारी है, इसके कारण सबसे चर्चित इवेंट स्की जंपिंग वर्ल्ड कप नहीं हो पा रहा है
  • सेपोरो में स्नो फेस्टिवल 31 जनवरी से शुरू होगा, गेम के लिए 24 इंच बर्फ जरूरी है; 6 हजार ट्रकों से 5-5 टन बर्फ मंगवाई गई

टोक्यो(भास्कर के लिए जूलियन रयाल). एक तरफ एशिया के कई देश बर्फबारी से परेशान हैं, वहीं जापान में आधी जनवरी बीत जाने पर भी सिर्फ 8 इंच बर्फबारी हुई है। जबकि पिछले वर्षों में इस दौरान 40 इंच बर्फ गिरती थी। 1961 से अब तक यह सबसे कम बर्फबारी है। इसके कारण सबसे चर्चित इवेंट स्की जंपिंग वर्ल्ड कप नहीं हो पा रहा है। क्योंकि इस गेम के लिए 24 इंच बर्फ जरूरी है। यह 17 जनवरी से शुरू होना था। सेपोरो में भी सबसे बड़ा स्नो फेस्टिवल नहीं हो पा रहा है। 


पर्यटन के लिहाज से ये बड़े इवेंट हैं। टोक्यो यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर केविन शॉर्ट के मुताबिक ग्लोबल वार्मिंग और ऑस्ट्रेलिया की आग से ऐसा हुआ है। आगे भी बड़े तूफान, बारिश के रूप में इसके नतीजे दिखेंगे। वहीं यामागाता के महापौर तकाहीरो सातो का कहना है कि हाल में भारी बर्फबारी की संभावना नहीं है, इसलिए हम विकल्प इस्तेमाल कर रहे हैं, ताकि पर्यटकों को निराश न होना पड़े।

इस साल पारंपरिक इवेंट भी नहीं हो पाएगा
जापान की मौसम एजेंसी का कहना है कि अब तक औसत 48% बर्फ गिरी है। पिछली बार स्नो फेस्टिवल में दुनिया की चर्चित इमारतों की प्रतिकृति बनाई गई थीं। पर बर्फ की कमी से इस साल ऐसा नहीं कर सकेंगे। 31 जनवरी से इवेंट शुरू होना है। इसके लिए 6 हजार ट्रकों से 5-5 टन बर्फ मंगवाई गई है। वहीं, तोकामाची प्रांत में भी दूल्हा-दुल्हन को बर्फ में फेंकने का पारंपरिक इवेंट नहीं हो पाएगा।

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें