छग / सिविल इंजीनियर जेसीबी पर सवार होकर शादी करने पहुंचा, बैनर लगाकर अपनी डिग्री भी बताई

Dainik Bhaskar

May 17, 2019, 11:33 AM IST



X

  • अमीश कुमार डहरिया ने अपनी शादी में दहेज भी नहीं लिया
  • उन्होंने बताया कि वे अपनी शादी को यादगार बनाना चाहते थे

कसडोल.  छत्तीसगढ़ के कसडोल का एक इंजीनियर जेसीबी मशीन पर सवार होकर दुल्हन के घर पहुंचा। उसने जेसीबी के फ्रंट लोडर पर अपनी डिग्री वाला बैनर लगाया। उसने बताया कि मैं अपनी शादी को यादगार बनाना चाहता था। इसी सोच के साथ मैंने घोड़ी की जगह जेसीबी से जाने का फैसला किया। 

 

अमीश कुमार डहरिया कसडोल गांव से इकलौते इंजीनियर हैं। उन्होंने बताया कि मैंने पहले अपने फैसले के बारे में परिवार वालों को बताया, लेकिन वे इसके लिए तैयार नहीं हुए। मैं भी अपनी जिद पर अड़ा रहा। आखिर में वे मान गए। अमीश के पिता कसडोल के आश्रम शाला में प्रधान पाठक हैं। 

 

सामान खरीदकर दुल्हन के परिवार को दिया: अमीश ने अपनी शादी में दहेज नहीं लिया। रस्में पूरी हों, इसके लिए पहले जरूरी सामान खरीदे, फिर उन्हें लड़की वालों को दे दिया। लड़की बैंक में असिस्टेंट मैनेजर है।

 

COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543