--Advertisement--

चीन / नई हाईस्पीड ट्रेन का मॉडल लॉन्च, एक घंटे में तय करेगी 1000 किमी की दूरी



नई बुलेट ट्रेन के केबिन 29.2 मीटर लंबे, तीन मीटर चौड़े और हीट-लाइट प्रूफ होंगे। (फाइल) नई बुलेट ट्रेन के केबिन 29.2 मीटर लंबे, तीन मीटर चौड़े और हीट-लाइट प्रूफ होंगे। (फाइल)
चीन में दुनिया का सबसे बड़ा हाईस्पीड ट्रेन नेटवर्क है जिसकी लंबाई 22 हजार किमी है। (फाइल) चीन में दुनिया का सबसे बड़ा हाईस्पीड ट्रेन नेटवर्क है जिसकी लंबाई 22 हजार किमी है। (फाइल)
X
नई बुलेट ट्रेन के केबिन 29.2 मीटर लंबे, तीन मीटर चौड़े और हीट-लाइट प्रूफ होंगे। (फाइल)नई बुलेट ट्रेन के केबिन 29.2 मीटर लंबे, तीन मीटर चौड़े और हीट-लाइट प्रूफ होंगे। (फाइल)
चीन में दुनिया का सबसे बड़ा हाईस्पीड ट्रेन नेटवर्क है जिसकी लंबाई 22 हजार किमी है। (फाइल)चीन में दुनिया का सबसे बड़ा हाईस्पीड ट्रेन नेटवर्क है जिसकी लंबाई 22 हजार किमी है। (फाइल)

  • चीन की नई बुलेट ट्रेन टी-फ्लाइट, जमीन से 100 मिमी ऊपर चलेगी
  • ट्रेन में होगा इलेक्ट्रोमैग्नेटिक प्रपुल्शन का इस्तेमाल, यह एयरोस्पेस तकनीक में लगाई जाती है
  • 2025 में चलेगी चीन की यह नई बुलेट ट्रेन

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 03:48 PM IST

बीजिंग. चीन ने एक नई हाईस्पीड ट्रेन का मॉडल लॉन्च किया है। यह ट्रेन एक घंटे में एक हजार किमी की दूरी तय करेगी। चीन के सरकारी मीडिया के मुताबिक, इस ट्रेन को 2025 में शुरू किया जाएगा। फिलहाल चीन में बुलेट ट्रेन चल रही हैं जिनकी स्पीड 350 किमी/घंटा होती है। अब चीन नेक्स्ट जेनरेशन की चुंबकीय प्रभाव से चलने वाली बुलेट ट्रेन तैयार कर रहा है।

चीन की कंपनी ही बना रही नई बुलेट ट्रेन

  1. नई बुलेट ट्रेन का मॉडल सिचुआन प्रांत के चेंगडू में 2018 नेशनल मास इनोवेशन एंड आंत्रप्रेन्योरशिप वीक के दौरान बुधवार को दिखाया गया। ट्रेन को चाइना एयरोस्पेस साइंस एंड इंडस्ट्री कॉरपोरेशन लि. (सीएएसआईसी) बना रही है। ट्रेन का बनना 2015 से ही शुरू हो चुका है।

  2. ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, ट्रेन को टी-फ्लाइट नाम दिया गया है। इसमें केबिन 29.2 मीटर लंबे, तीन मीटर चौड़े और हीट-लाइट प्रूफ होंगे। चुंबकीय और क्लोज-टू-वैक्यूम ट्रेन तकनीक से ट्रेन जमीन से 100 मिमी ऊपर चलेगी।  

  3. सीएएसआईसी के एक अफसर वांग यी का कहना है कि ट्रेन एक घंटे में एक हजार किमी की दूरी तय कर लेगी। यात्रा सुरक्षित होगी और यात्रियों को ट्रेन में किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

  4. शंघाई तोंगजी यूनिवर्सिटी में रेलवे एक्सपर्ट और प्रोफेसर सुन झांग के मुताबिक- नई बुलेट ट्रेन का मॉडल दिखाता है कि चीन इस मामले में अमेरिका के बराबर आ गया है।

  5. कुछ अमेरिकी कंपनियां जैसे हाईपरलूप ट्रांसपोर्टेशन टेक्नोलॉजीज और हाईपरलूप वन ऐसी डिजाइन बना रही हैं जो एक घंटे में एक हजार किमी से ज्यादा दूरी तय कर सकेंगी।

  6. रेलवे एक्सपर्ट सुन झांग ने यह भी बताया कि नई बुलेट ट्रेन में उसी तरह के इलेक्ट्रोमैग्नेटिक प्रपुल्शन का इस्तेमाल किया गया है जो एयरोस्पेस तकनीक में लगाई जाती है।

  7. चीन में दुनिया का सबसे बड़ा हाईस्पीड ट्रेन नेटवर्क है जिसकी लंबाई 22 हजार किमी है। यह चीन के कई शहरों से जुड़ा है। सुन का कहना है कि नई तकनीक पर फिलहाल काम चल रहा है। इससे चीन के लोगों पर अभी कोई सीधा असर नहीं पड़ेगा।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..