• Hindi News
  • Interesting
  • Female hiker suffered the longest cardiac arrest of 6 hours, survived; Doctor said this is the exception

स्पेन / महिला हाइकर को 6 घंटे का सबसे लंबा कार्डिक अरेस्ट रहा, जान बची; डॉक्टर बोले- यह अपवाद है

हाइकर ऑड्रे मैश अपने पति के साथ ( इनसेट में पिरेनीज का पहाड़ी इलाका)। हाइकर ऑड्रे मैश अपने पति के साथ ( इनसेट में पिरेनीज का पहाड़ी इलाका)।
X
हाइकर ऑड्रे मैश अपने पति के साथ ( इनसेट में पिरेनीज का पहाड़ी इलाका)।हाइकर ऑड्रे मैश अपने पति के साथ ( इनसेट में पिरेनीज का पहाड़ी इलाका)।

  • महिला हाइकर ऑड्रे मैश अपने पति के साथ पिरेनीज के पहाड़ी इलाके में पर्वतारोहण के लिए गए थे
  • बर्फीला तूफान आने से दोनों फंसकर रास्ता भटक गए 
  • मैश बीमार पड़ गईं और उनके शरीर का तापमान कम होने के बाद कार्डिक अरेस्ट आ गया

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2019, 11:18 AM IST

बार्सिलोना. स्पेन के कैटलन पिरेनीज के पहाड़ी इलाके में एक महिला हाइकर के 6 घंटे कार्डिक अरेस्ट से जूझने के बाद भी बचने का मामला सामने आया है। दरअसल, 34 साल की ऑड्रे मैश अपने पति रोहन शोएमन के साथ पिरेनीज पहाड़ी पर पर्वतारोहण के लिए गई थीं। तभी बर्फीले तूफान में फंस गईं। उन्हें  अल्पताप ( हाइपोथर्मिया) के बाद कार्डिक अरेस्ट आया था। यह घटना 3 नवंबर की है, लेकिन खबर सुर्खियों में अब आई है।

पति शोएमन ने बताया, "हमने बर्फीले तूफान में भटकने का अलार्म करीब डेढ़ बजे रेक्स्यू टीम को भेज दिया था। इस दौरान मैश की बॉडी का तापमान लगातार कम होता जा रहा था। इससे वह बेहोश हो गई। मैं मुश्किल से उसे खींचकर सुरक्षित स्थान पर ले गया और करीब 3:40 बजे मैंने हमारी लोकेशन के फोटो रेस्क्यू टीम को भेजा। उस वक्त मैश के शरीर में कोई हलचल नहीं थी। डॉक्टर ने बताया कि उसे अल्पताप ( हाइपोथर्मिया) के बाद कार्डिक अरेस्ट आया था।" ऑड्रे मैश फिलहाल बार्सिलोना के अस्पताल में भर्ती हैं।

हाइकर ऑड्रे मैश पति रोहन शोएमन के साथ।

डॉक्टर ने कहा- यह अपवाद है
बार्सिलोना अस्पताल के डॉक्टरों का कहना है कि इसे स्पेन में सबसे लंबा कार्डिक अरेस्ट के रूप में दर्ज किया जा सकता है। साथ ही यह दुनिया में भी एक अपवाद है। मरीज को देखकर पहली नजर में लगा था कि उसकी मौत हो गई है। हमने मशीन से खून में ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ाया और शारीरिक तापमान 30 डिग्री सेल्सियस पहुंचने के बाद ह्र्दय गति सामान्य करने के लिए उसे इलेक्ट्रिक शॉक दिए गए। मैश ने बताया, "उस दिन छह घंटे क्या हुआ। मुझे कुछ याद नहीं है। मैं डॉक्टर की वजह से अप्रत्याशित रूप से बच गई।" उधर, शोएमन का कहना है कि मुझे लगा कि वह मर गई है। जब रेस्क्यू टीम पहुंची तब उसके शरीर का तापमान 18 डिग्री सेल्सियस था। जब उसे अस्पताल लाया गया तब उसके शरीर में कोई वाइटल साइन नहीं थे। 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना