इंडोनेशिया / माता-पिता के पास बच्चे को दूध पिलाने के पैसे नहीं, रोज 1.5 लीटर कॉफी पिलाते हैं



Indonesia, Family Too Poor to Buy Milk Feeds Baby with 1.5 Liters of Coffee
X
Indonesia, Family Too Poor to Buy Milk Feeds Baby with 1.5 Liters of Coffee

  • सरीफुद्दीन और अनीता की बेटी हदीजाह पश्चिमी सुलावेसी प्रांत के तोरना लीमा गांव में रहती है 
  • 6 महीने की उम्र से बच्ची कॉफी पी रही है, अब वह 14 महीने की है और पूरी तरह स्वस्थ
     

Dainik Bhaskar

Sep 21, 2019, 11:45 AM IST

जकार्ता. पश्चिमी सुलावेसी प्रांत के तोरना लीमा गांव की 14 महीने की बच्ची हदीजाह रोज डेढ़ लीटर कॉफी के सहारे पल रही है। उसके माता-पिता इतने गरीब हैं कि वे दूध खरीद नहीं  सकते, इसीलिए वे ब्रू की गई कॉफी खरीदते हैं। हदीजाह की खबर पर पूरे एशिया के लाखों लोग हैरान हैं, क्योंकि बच्चों के लिए कॉफी बहुत नुकसानदायक होती है। मीडिया में खबर आने पर पोलेवेसी हेल्थ एजेंसी ने बच्ची के गांव जाकर माता-पिता से मुलाकात की और कॉफी नहीं पिलाने की अपील की। इस दौरान वे बच्ची के लिए दूध और बिस्किट भी लेकर गए।

बच्ची कॉफी नहीं पिलाने पर रोती है

  1. हदीजाह की मां अनीता का कहना है, "हमारे पास दूसरा कोई विकल्प नहीं है। हमारी आय इतनी कम है कि हम दूध जैसी जरूरी चीज नहीं खरीद सकते। पति जो भी कमाते हैं, उससे किसी तरह घर चलता है। ऐसे में कॉफी ही पिलानी पड़ती है। यह सस्ती है। बच्ची को भी इसकी आदत हो गई। नहीं पिलाने पर रोती है और परेशान हो जाती है।" 

  2. बच्ची के पिता सरीफुद्दीन ने बताया, "वह रोज सूखे नारियल का काम करते हैं। इससे रोज 100 (20 हजार इंडोनेशियाई रुपिआह) रुपए तक की मजदूरी हो पाती है। इसमें घर की जरूरी चीजें ही आ पाती हैं। कभी-कभी जब काम नहीं मिलता तब तब रुक कॉफी (गर्मपानी में कॉफी और शक्कर डालकर तैयार किया गया तरल) बनाकर बच्ची को पिलाते हैं। बेटी इसे आराम से पी लेती है।

  3. तोरना लीमा गांव के इस बारे में आहार विशेषज्ञ और डॉक्टर्स का कहना है, कॉफी बच्चों के लिए बहुत नुकदायक होती है। खासकर पांच साल से कम उम्र के बच्चों के लिए। बच्ची के माता-पिता अस्पताल आए थे, क्योंकि वह देर रात के खुद से खेलती रहती थी और सोती नहीं थी। तब उन्हें कॉफी पिलाने के लिए मना किया गया था।

     

    DBApp

     

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना