• Hindi News
  • Interesting
  • Jesse, fiance helped by voice command to become the first blind climber to climb 450 feet high hill

स्कॉटलैंड / 450 फीट ऊंची पहाड़ी चढ़ने वाले पहले ब्लाइंड क्लाइंबर बने जेसी, मंगेतर ने वॉइस कमांड से मदद की

जेसी डफ्टन। जेसी डफ्टन।
जेसी डफ्टन अपनी मंगेतर के साथ। इन्होंने ही पहाड़ी चढ़ने में मदद की। जेसी डफ्टन अपनी मंगेतर के साथ। इन्होंने ही पहाड़ी चढ़ने में मदद की।
Jesse, fiance helped by voice command to become the first blind climber to climb 450 feet high hill
X
जेसी डफ्टन।जेसी डफ्टन।
जेसी डफ्टन अपनी मंगेतर के साथ। इन्होंने ही पहाड़ी चढ़ने में मदद की।जेसी डफ्टन अपनी मंगेतर के साथ। इन्होंने ही पहाड़ी चढ़ने में मदद की।
Jesse, fiance helped by voice command to become the first blind climber to climb 450 feet high hill

  • ब्रिटेन के जेसी डफ्टन ने ओल्ड मैन ऑफ हॉय पहाड़ी पर 7 घंटे में चढ़ाई पूरी की
  • जन्म के समय जेसी का विजन सिर्फ 20% था, अब 1% ही रह गया है

दैनिक भास्कर

Dec 05, 2019, 07:20 AM IST

एडिनबर्ग. ब्रिटेन के जेसी डफ्टन स्कॉटलैंड की 'ओल्ड मैन ऑफ हॉय' पहाड़ी पर चढ़ाई करने वाले दुनिया के पहले ब्लाइंड क्लाइंबर बन गए हैं। जेसी ने 450 फीट ऊंची पहाड़ी पर 7 घंटे में चढ़ाई पूरी की। यह चढ़ाई पूरी करने में जेसी की मदद उनकी मंगेतर मॉली थॉम्प्सन ने की। थॉम्प्सन ने उन्हें हेडसेट की मदद से वॉइस कमांड दी। 

जेसी और थॉम्प्सन 2004 से साथ में क्लाइंबिंग कर रहे हैं। लाल रेतीले पत्थरों से बनी यह पहाड़ी स्कॉटलैंड में नॉर्थ कोस्ट में स्थित है। जेसी ने कहा, 'यह पहाड़ी रिमोट एरिया में है। इसलिए चढ़ाई करने में थोड़ी परेशानी हुई। यह समुद्र के किनारे है, इसलिए मैंने इसे चुना। मैं इस पहाड़ी पर चढ़ने वाला पहला ब्लाइंड क्लाइंबर बनना चाहता था। यह मैंने हासिल कर लिया। क्लाइंबिंग करते समय बहुत फोकस रहना पड़ता है। किसी और चीज के बारे में नहीं सोच सकते। सिर्फ एक चीज सोचनी पड़ती है और वो यह कि खड़ी पहाड़ी पर चढ़ाई कैसे करनी है और यह चढ़ाई पूरी कैसे होगी।'

जन्म के समय जेसी का विजन सिर्फ 20% था, अब 1% ही रह गया है
जन्म के समय जेसी का विजन सिर्फ 20% था। लेकिन उम्र बढ़ते-बढ़ते वह कम हो गया। अभी उनके देखने की क्षमता सिर्फ 1% है। वे कहते हैं, 'मैं ज्यादा चीजें पहचानकर नहीं बता सकता। मैं सिर्फ यह बता सकता हूं कि लाइट कहां जल रही है। मैं अब हाथ चेहरे के सामने लाता हूं और अंगुलियां हिलाता हूं तब अपना हाथ देख पाता हूं। इससे ज्यादा नहीं देख पाता।' जेसी के पिता भी क्लाइंबर हैं। जेसी ने दो साल की उम्र में पहली बार क्लाइंबिंग की थी। विजन इतना कमजोर होने के बावजूद वे 16 साल की उम्र तक रग्बी और जुजित्सू खेला करते थे। कुछ समय बाद क्लाइंबिंग उनका पसंदीदा खेल बन गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना