इटली / डॉक्टरों की रिपोर्ट पर जजों ने फैसला दिया- मोबाइल से कैंसर होता है, कर्मचारी ने मुआवजा मांगा

Judges gave verdict on doctors' report - Mobile causes cancer,
X
Judges gave verdict on doctors' report - Mobile causes cancer,

  • इटली की कंपनी टेलीकॉम इटालिया के कर्मचारी रॉबर्टो रोमियो ने दावा किया- रोज 4 से 5 घंटे फोन पर बात की जिससे बीमारी हुई
  • 57 साल के रॉबर्टो को ट्यूमर और न्यूरो डिसऑर्डर हो गया था, उसने कंपनी से हर महीने 40 हजार रुपए मुआवजा दिलाने की मांग की थी

Dainik Bhaskar

Jan 17, 2020, 09:13 AM IST

रोम. इटली की एक अदालत ने डॉक्टरों की रिपोर्ट के आधार पर जजों ने फैसला सुनाया कि लंबे समय तक मोबाइल फोन का इस्तेमाल सिर में ट्यूमर होने वाले का कारण बन सकता है। हालांकि, दुनियाभर में बड़े पैमाने पर रिसर्च के बाद वैज्ञानिकों ने माना है कि मोबाइल से ट्यूमर होने के कोई सबूत नहीं है। कोर्ट ने फैसले से पहले इस बात की जांच के लिए दो डॉक्टर नियुक्त किए थे कि क्या मोबाइल फोन के ज्यादा इस्तेमाल से ट्यूमर या कैंसर की संभावना है। उनकी रिपोर्ट में ट्यूमर होने की आशंका जताई गई। 


मामला इटली की कंपनी टेलीकॉम इटालिया के एक कर्मचारी रॉबर्टो रोमियो से जुड़ा है। 57 साल के रॉबर्टो ने उन्हें हुए ट्यूमर और न्यूरो डिसऑर्डर की वजह मोबाइल के ज्यादा इस्तेमाल को बताया था। इसके एवज में उन्होंने कंपनी से हर महीने करीब 40 हजार रुपए मुआवजा दिलाने की मांग की थी। उनकी दलील थी कि टेलीकॉम इटालिया में 15 साल नौकरी के दौरान उन्हें रोज 4 से 5 घंटे फोन पर बात करनी पड़ती थी। इस वजह से उनकी ऐसी हालत हो गई है।

कोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को बरकरार 
2017 में निचली अदालत ने भी रॉबर्टो के पक्ष में फैसला दिया था, जिसे इस अदालत में चुनौती दी गई थी। कोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को बरकरार रखते हुए रॉबर्टो के पक्ष में फैसला सुनाया। जजों ने कहा- मोबाइल फोन से रेडियो फ्रिक्वेंसी और बीमारी के बीच संबंधों की पुष्टि की ठोस वजह है। कोर्ट ने वर्किंग प्लेस एक्सीडेंट इंश्योरेंस एजेंसी को रोमियो को क्षतिपूर्ति देने का आदेश दिया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना