आस्था / महाराष्ट्र का खंडोबा मंदिर, यहां श्रद्धालु ने दांत से उठाई 42 किलो वजनी तलवार

खंडोबा मंदिर में एक व्यक्ति ने दांतोंं से तलवार उठाई। खंडोबा मंदिर में एक व्यक्ति ने दांतोंं से तलवार उठाई।
खंडोबा मंदिर में दशहरा पर यह स्पर्धा हर साल होती है। खंडोबा मंदिर में दशहरा पर यह स्पर्धा हर साल होती है।
दांतों से तलवार उठाने वाली स्पर्धा में कई लोगों ने हिस्सा लिया। दांतों से तलवार उठाने वाली स्पर्धा में कई लोगों ने हिस्सा लिया।
X
खंडोबा मंदिर में एक व्यक्ति ने दांतोंं से तलवार उठाई।खंडोबा मंदिर में एक व्यक्ति ने दांतोंं से तलवार उठाई।
खंडोबा मंदिर में दशहरा पर यह स्पर्धा हर साल होती है।खंडोबा मंदिर में दशहरा पर यह स्पर्धा हर साल होती है।
दांतों से तलवार उठाने वाली स्पर्धा में कई लोगों ने हिस्सा लिया।दांतों से तलवार उठाने वाली स्पर्धा में कई लोगों ने हिस्सा लिया।

  • पुणे के पास खंडोबा मंदिर में हर साल दशहरा पर 42 किलो की तलवार उठाने की प्रतिस्पर्धा खास होती है
  • इस बार एक श्रद्धालु ने एक व्यक्ति को पीठ पर बैठाकर तलवार उठाई

दैनिक भास्कर

Oct 11, 2019, 09:07 AM IST

पुणे. महाराष्ट्र में पुणे से 51 किमी दूर है जेजुरी। यह जगह अपने खंडोबा मंदिर के लिए दुनिया भर में मशहूर है। यहां हर साल दशहरे पर होने वाले हल्दी उत्सव को मनाने दूर-दूर से लोग आते हैं। इस दौरान हल्दी से पूरा मंदिर सोने की तरह चमक उठता है। इसके अलावा, यहां 42 किलो की तलवार उठाने की प्रतिस्पर्धा खास होती है, क्योंकि श्रद्धालु इसे अपने दांतों से उठाते हैं। इस साल एक श्रद्धालु ने एक व्यक्ति को पीठ पर बैठाकर 42 किलो वजनी तलवार उठाई।

 

खंडोबा को भगवान शिव का अवतार माना जाता है। मान्यता है कि पृथ्वी पर मल्ल और मणि राक्षस के अत्याचार बढ़ने के बाद उन्हें खत्म करने भगवान शिव ने मार्तंड भैरव का अवतार लिया था। यह मंदिर एक छोटी-सी पहाड़ी पर है। यहां पहुंचने के लिए भक्तों को करीब 200 सीढ़ियां चढ़नी पड़ती हैं।

 

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना