ब्रिटेन / 50 साल का एथलीट अंटार्कटिका की आइस शीट के नीचे 10 मिनट तैरा, ऐसा करने वाला पहला व्यक्ति

सुप्रा-ग्लेशियल झीलों का निर्माण बर्फ की सतह पिघलने से होता है। सुप्रा-ग्लेशियल झीलों का निर्माण बर्फ की सतह पिघलने से होता है।
Lewis Pagh became the first person in the world to swim under the Antarctic ice sheet
Lewis Pagh became the first person in the world to swim under the Antarctic ice sheet
Lewis Pagh became the first person in the world to swim under the Antarctic ice sheet
X
सुप्रा-ग्लेशियल झीलों का निर्माण बर्फ की सतह पिघलने से होता है।सुप्रा-ग्लेशियल झीलों का निर्माण बर्फ की सतह पिघलने से होता है।
Lewis Pagh became the first person in the world to swim under the Antarctic ice sheet
Lewis Pagh became the first person in the world to swim under the Antarctic ice sheet
Lewis Pagh became the first person in the world to swim under the Antarctic ice sheet

  • ब्रिटेन के लेविस प्यूघ ने बताया कि वे ऐसा कर लोगों का ध्यान जलवायु परिवर्तन की तरफ दिलाना चाहते हैं
  • 50 साल के लेविस ने तैरते वक्त सिर्फ स्वीमिंग अंडरगार्मेंट, एक कैप और गॉगल पहना था

Dainik Bhaskar

Jan 27, 2020, 01:13 PM IST

लंदन.  ब्रिटेन के लेविस प्यूघ अंटार्कटिका की आइस शीट के नीचे तैरने वाले दुनिया के पहले एथलीट बन गए हैं। 50 साल के लेविस ने तैरते वक्त स्वीमिंग अंडरगार्मेंट, एक कैप और गॉगल पहना था। वह 10 मिनट तक सुप्रा ग्लेशियल झील के पानी में सेफ गॉर्ड की मौजूदगी में 2.2 वर्ग मीटर एरिया में तैरते रहे। इसमें रॉस सागर भी शामिल है, जिसे 2015 में तैराकी के बाद एक मरीन प्रोटेक्टेड एरिया के रूप में घोषित किया गया था। 

लेविस जब आइस शीट के नीचे तैर रहे थे, तब तापमान फ्रीजिंग प्वाइंट के करीब था। उन्होंने बताया कि मैंने यह काम किसी उपलब्धि के लिए नहीं किया है, बल्कि लोगों का ध्यान जलवायु परिवर्तन की ओर ध्यान दिलाने के लिए किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अंटार्कटिका की चादरों के नीचे तैरने का प्यूघ का सफर अभी शुरू हुआ है। उनका अगला प्रयास सुप्रा-ग्लेशियल झील को तैर कर पार करने वाला पहला व्यक्ति बनना है। डरहम यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन के मुताबिक, पूर्वी अंटार्कटिका में 65,000 सुप्रा-ग्लेशियर झीलें हैं। इनका निर्माण बर्फ की सतह पिघलते से हुआ है। 

हम क्लाइमेट इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं
लेविस ने ट्वीट कर लिखा, "मैं क्लाइमेट चेंज की तरफ लोगों का ध्यान दिलाना चाहता हूं। दुनियाभर में ग्लेशियर तेजी से पिघल रहे हैं। इसलिए मैंने अंटार्कटिक की आइस शीट के नीचे तैरने का निश्चिय किया।" 

शेयर किया सुंदर और डरावना अनुभव
उन्होंने एक पोस्ट इंस्टाग्राम पर भी अपलोड की। इसमें उन्होंने अपने तैराकी के कुछ बहुत सुंदर और कुछ डरावने अनुभव बयां किए। उन्होंने लिखा, ‘‘जब मैं तैरने के लिए पानी के अंदर गया, चारों ओर पानी नीले रंग का दिख रहा था। कुछ देर बाद मेरा सामना एक ऐसी जगह से हुआ जहां पानी बर्फ की शीट में मौजूद दरार से होकर गायब होता लगता था।  मुझे लगा, यहां से जाकर यह पानी समुद्र में मिल जाता होगा। हालांकि यह आइस शिफ्टिंग थी। इसके बाद में पानी से बाहर आ गया।’’

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना