ब्राजील / 380 साल पुराने रियो कार्निवाल में भगवान गणेश की झांकी, एक घंटा प्रदर्शन का समय मिला

1917 में परेड में सांबा नृत्यों को चलन बढ़ा। 1917 में परेड में सांबा नृत्यों को चलन बढ़ा।
Lord Ganesha's tableau in 380-year-old Rio Carnival, one hour performance time found
Lord Ganesha's tableau in 380-year-old Rio Carnival, one hour performance time found
X
1917 में परेड में सांबा नृत्यों को चलन बढ़ा।1917 में परेड में सांबा नृत्यों को चलन बढ़ा।
Lord Ganesha's tableau in 380-year-old Rio Carnival, one hour performance time found
Lord Ganesha's tableau in 380-year-old Rio Carnival, one hour performance time found

  • शनिवार से शुरू हुआ कार्निवाल बुधवार को समाप्त हो जाएगा
  • पेरोला नेग्रा स्पेशल ग्रुप सांबा स्कूल ने भगवान गणेश से जुड़ी झांकी बनाई

दैनिक भास्कर

Feb 26, 2020, 04:18 PM IST

रियो द जेनेरियो (ब्राजील). ब्राजील की राजधानी रियो द जेनेरियो में पांच दिवसीय सालाना कार्निवाल जारी है। शनिवार से शुरू हुआ कार्निवाल बुधवार को समाप्त हो जाएगा। इस बार 13 सांबा स्कूलों ने अलग-अलग विषयों पर अपनी झांकियां बनाई हैं। सर्वश्रेष्ठ झांकी को कार्निवाल चैंपियन का खिताब मिलेगा। इन्हीं में पेरोला नेग्रा स्पेशल ग्रुप सांबा स्कूल ने भगवान गणेश से जुड़ी झांकी बनाई, जो सबके आकर्षण का केंद्र रही।

कार्निवाल की शुरुआत सन 1640 से मानी जाती है। लेकिन इसमें मुखौटों के साथ भाग लेने वालों को चलन कार्निवाल के 200 साल बाद सन 1840 से शुरू हुआ। यह चलन इटली कार्निवाल से आया था। 1917 में परेड में सांबा नृत्यों को चलन बढ़ा। 

कार्निवाल के 200 साल बाद 1840 से मुखौटों के साथ भाग लेने वालों को चलन शुरू हुआ।

यह है खास

  • हर साल कार्निवाल देखने हजारों लोग उमड़ते हैं।
  • कार्निवाल 05 दिन चलता है
  • इसका चलन 1640 में शुरू हुआ था
  • इसमें सन 1917 में सांबा परेड को शामिल किया गया
  • हर स्कूल को कला के प्रदर्शन के लिए 01 घंटा मिलता है 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना