पहल / दुनिया का पहला समुद्री कब्रिस्तान केरल में, लुप्त हो रही मछलियों को श्रद्धांजलि दी गई

समुद्री कब्रिस्तान केरल के कोझिकोड के बेयोर तट पर बनाया गया है। समुद्री कब्रिस्तान केरल के कोझिकोड के बेयोर तट पर बनाया गया है।
X
समुद्री कब्रिस्तान केरल के कोझिकोड के बेयोर तट पर बनाया गया है।समुद्री कब्रिस्तान केरल के कोझिकोड के बेयोर तट पर बनाया गया है।

  • समुद्री कब्रिस्तान में सीहॉर्स, पैरटफिश, लेदरबैक कछुए, ईगल रेज, हैमरहेड मछली को श्रद्धांजलि दी गई
  • एक अफसर ने बताया, यह लोगों को जागरूक करने के लिए एक पहल है

Dainik Bhaskar

Dec 13, 2019, 02:24 PM IST

कोझिकोड. सिंगल यूज प्लास्टिक से बढ़ रहे प्रदूषण के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए केरल के कोझिकोड में प्लास्टिक की बोतलों से दुनिया का पहला समुद्री कब्रिस्तान बनाया गया है। इसे लुप्त हो रही प्रजातियों को श्रद्धांजलि देने के लिए बनाया गया है।

इस क्रबिस्तान को जिला प्रशासन के 'क्लीन बीच मिशन और बेपोर पोर्ट विभाग' की मदद से जेलीफिश वाटरस्पोर्ट्स ने बनाया है। सिंगल-यूज  प्लास्टिक की बोतलों से बना यह ढांचा लुप्त हो रही आठ समुद्री प्रजातियों को श्रद्धांजलि देता है, जिनमें सीहॉर्स, पैरटफिश, लेदरबैक कछुए, ईगल रेज, सॉफिश, डुगॉन्ग, जेबरा शार्क, हैमरहेड मछली और केरल की स्थानिक मीठे पानी की मछली, जिसे मिस केरल कहा जाता है, जैसी प्रजातियां शामिल हैं। 

'तो मछलियोंं की कई प्रजातियां लुप्त हो जाएंगी'

कोझीकोड के पोर्ट ऑफिसर कैप्टन अश्विनी प्रताप ने कहा कि यह एक प्रतीकात्मक स्मारक लोगों को जागरूक करने के लिए है। यह हमें बताता है कि अगर हम लगातार प्लास्टिक को नदियों, समुद्रों में फेंकते रहे तो मछलियों की कई प्रजातियां विलुप्त हो जाएंगी। एक अफसर ने बताया, "यह लोगों को जागरूक करने के लिए एक पहल है। अगर हम लगातार प्लास्टिक को समुद्र में फेंकते रहे तो मछलियोंं की कई प्रजातियां लुप्त हो जाएंगी।" एक रिपोर्ट के मुताबिक, जल प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन के कारण 700 प्रजातियों का अस्तित्व खतरे में है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना