राजस्थान / मन्नत पूरी होने पर लोग ताजिए पर चांदी का पालना, शरीर के अंगों का प्रतीक चढ़ाते हैं



Moharram: People offer body parts of silver on Taziya in Nagaur
X
Moharram: People offer body parts of silver on Taziya in Nagaur

  • नागौर में नौ ताजियों पर आंख, जीभ, रीड की हड्‌डी, कमर, हाथ और पैर का पंजा तक चढ़ाया जाता है
  • नागौर शहर में ही 7 बच्चों ने तिरंगे की थीम पर ताजिया बनाया, इसे तैयार करने में 2 महीने लगे
  • बिहार राज्य के लखीमसराय और सासाराम में ताजियों को देशभक्ति थीम पर बनाया गया था

दैनिक भास्कर

Sep 11, 2019, 11:08 AM IST

नागौर (सुनीलदत्त बोहरा). राजस्थान के नागौर में मुहर्रम के मौके पर लोगों ने ताजिए पर चांदी से बने बच्चों का पालना, दिल और शरीर के अंग तक चढ़ाया। ऐसा करने की वजह ताजिए से मन्नत मांगना है। जिसकी मन्नत पूरी होती है, वह मोहर्रम पर निकलने वाले ताजिए पर चांदी की उसी चीज को चढ़ाते हैं। जैसे किसी की बच्चे की कामना पूरी होती है तो वो पालना, तो किसी के दिल की बीमारी ठीक होती है तो वह चांदी का बना दिल चढ़ाता है। यहां के नौ ताजियों पर आंख, जीभ, रीड की हड्‌डी, कमर, हाथ और पैर का पंजा तक चढ़ाया जाता है।

  • 7 बच्चों ने 2 महीने में तिरंगा थीम पर बनाया ताजिया

    7 बच्चों ने 2 महीने में तिरंगा थीम पर बनाया ताजिया

    7 बच्चों द्वारा बनाया गया ताजिया।

    नागौर.  शहर के न्यारों का मोहल्ला में अशरफ अली, राजाब अली, रफीक, अरबाज, जावेद, मोहम्मद साजिद व अब्दुल रज्जाक इन सभी बच्चों ने मिलकर तिरंगा थीम पर ताजिया तैयार किया। इसमें जगह-जगह भारत का नक्शा भी बनाया गया। इसे तैयार करने में इन बच्चों को दो माह का समय लगा।

    Tajia

    इस ताजिए के निर्माण में थर्माकॉल और लकड़ी का उपयोग किया गया है। आस्था के साथ देशभक्ति को शामिल करने पर लोगों ने बच्चों के कलाकारी की जमकर सराहना की।

  • युवाओं ने ताजिए में बनाया 'हिन्दुस्तान'

    युवाओं ने ताजिए में बनाया 'हिन्दुस्तान'

    सासाराम (बिहार). राजपुर में ताजियादारों ने भारत के नक्शे के आकार का ताजिया बनाया और जुलूस में शरीक हुए। राजपुर की इस्लामे कुरेश नवयुवक मोहर्रम कमेटी पुराना बाजार साहिबगंज मुहल्ले के युवाओं ने भारत के मानचित्र की शक्ल में ताजिया बनाया और मातमी जुलूस में शरीक हुए।

  • तिरंगे के रूप में ताजिया

    तिरंगे के रूप में ताजिया

    लखीमसराय (बिहार). पहलाम जुलूस के दौरान देशभक्ति की झलक देखने को मिली। स्थानीय बाजार स्थित मंठटोला चकमसकन के मुस्लिम समुदाय के युवाओं ने देश भक्ति की मिसाल कायम करते हुए तिरंगे के प्रारूप का ताजिया बनाया। यह पहलाम के दौरान सूर्यगढ़ा बाजार में आकर्षण का केन्द्र बना रहा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना