69 दिन सूरज डूबता नहीं, सर्दी में 90 दिन अंधेरा रहता है; लोगों ने टाइम जोन से मुक्ति की मांग की

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।
  • 18 मई से 26 जुलाई के बीच सूरज डूबता ही नहीं है
  • फ्री टाइम जोन घोषित कराने 300 लोगों ने याचिका दायर की

ओस्लो. नाॅर्वे का सोमारोय द्वीप यहां 18 मई से 26 जुलाई के बीच 69 दिन सूरज डूबता ही नहीं है। इसके अलावा सर्दी में करीब तीन माह तक सूरज दिखाई ही नहीं देता। नॉर्वे के द्वीप ने दुनिया के पहले टाइम फ्री जोन बनने के लिए पहल की है।इसके लिए सोमारोय द्वीप के 300 निवासियों ने एक अभियान चलाया है। उन्होंने द्वीप को समय की सीमाओं से आजाद रखने के लिए टाइम फ्री जोन कैंपेन चलाया है। इसके समर्थन में याचिका भी दायर की है।

1) अभियान को फिनमार्क और नॉर्डलैंड का भी समर्थन मिला

स्थानीय सांसद केंट गुडमंड्समैन ने इस याचिका को आगे बढ़ाने का फैसला लिया। केंट का दावा है कि उन्हें करीबी दो शहर फिनमार्क और नॉर्डलैंड का भी समर्थन मिला है।इससे पहले यूरोपीयन यूनियन भी 2021 तक डेलाइट सेविंग टाइम (साल में 2 बार घड़ी आगे बढ़ाने की प्रक्रिया) को खत्म करने के बारे में कह चुका है।

अभियान के नेतृत्वकर्ता केजेल ओव हेविंग के मुताबिक, इसका उद्देश्य निवासियों को काम के पारंपरिक घंटों से मुक्त रखना है। यानी, लोग जब जो करना चाहते हैं, वह काम कर सकें। द्वीप के लोगों को उम्मीद है कि इस बदलाव से उनके स्कूल-कॉलेज और कामकाज के समय में लचीलापन आएगा। द्वीप पर टूरिज्म और मछली पालन आय के प्रमुख जरिए हैं।

यूरोप घूमने जाने वाले पर्यटकों को अलग-अलग शहरों में ब्रिज पर ताले (लव लॉक) दिखते हैं, लेकिन नॉर्वे के इन द्वीपों के ब्रिज पर घड़ियां। हेविंग के मुताबिक लंबे समय तक रात रहना या दिन न डूबने पर रात-दिन का अर्थ ही नहीं रह जाता। इसी से तनाव होता है। लोग समय के जंजाल में ना फंसें और जिंदगी खुलकर जिएं, यही अभियान का उद्देश्य है।