अमेरिका / ऑनलाइन गेमर दोस्त ने की मदद, 8000 किलोमीटर दूर इंग्लैंड में बैठे किशोर की जान बचाई

एैडान के साथ दूसरी ओर अमेरिका के टेक्सास में रहने वाली 20 साल की दिया लाथोरा थी। एैडान के साथ दूसरी ओर अमेरिका के टेक्सास में रहने वाली 20 साल की दिया लाथोरा थी।
X
एैडान के साथ दूसरी ओर अमेरिका के टेक्सास में रहने वाली 20 साल की दिया लाथोरा थी।एैडान के साथ दूसरी ओर अमेरिका के टेक्सास में रहने वाली 20 साल की दिया लाथोरा थी।

  • इंग्लैंड के विडनेस में रहने वाला ऐडान जैक्सन और अमेरिका की दिया अक्सर साथ गेम खेलते और चैट पर बात करते थे 
  • सोमवार को गेम खेलने के दौरान विडनेस ने दिया के सवालों का जवाब नहीं दिया तो उसे चिंता हुई और इमरजेंसी नंबर पर कॉल कर सूचना दी 
  • ऐडान को दिला का दौरा पड़ा था, दिया के अलर्ट की वजह से उसकी जान बच गई 

Dainik Bhaskar

Jan 15, 2020, 10:17 AM IST

लंदन.  इंग्लैंड में एक 17 साल के लड़के की जान सिर्फ इसलिए बच गई, क्योंकि उसके साथ करीब 8000 किलोमीटर दूर अमेरिका से ऑनलाइन गेम खेल रही दोस्त ने समय पर इमरजेंसी सेवा को उसके बारे में जानकारी दे दी।

दरअसल, सोमवार को इंग्लैंड के विडनेस में रहने वाला ऐडान जैक्सन इस माह के शुरू में रात को अपने बेडरूम में ऑनलाइन वीडियो गेम खेल रहा था। उसके माता-पिता नीचे के कमरे में टेलीविजन देख रहे थे। उसके साथ दूसरी ओर अमेरिका के टेक्सास में रहने वाली 20 साल की दिया लाथोरा थी। दिया ने अचानक महसूस किया कि जैक्सन कुछ बोल नहीं रहा है। जो कुछ वह सुन पा रही थी, उससे ऐसा लग रहा था कि जैक्सन को दौरा पड़ा है। उसने अपने दोस्त से पूछा कि क्या वह ठीक है, उसने कोई जवाब नहीं दिया।

दिया ने आपातकालीन नंबर तलाशा और सूचना दी

दिया ने तुरंत ही इंग्लैंड के शहर का आपातकालीन नंबर तलाशना शुरू किया। उसे नॉन इमरजेंसी पुलिस का नंबर मिल गया। उसने खुद को संयत रखते हुए फोन उठाने वाले को बताया कि वह अमेरिका से बोल रही है और अपने दोस्त की मदद करना चाहती है। इसके कुछ देर बाद ही इमरजेंसी पैरामेडिकल टीम जैक्सन की गली में पहुंच गई। उसके माता-पिता ने सोचा की यह टीम गलत पते पर आ गई है। 

ऐडान को दिल का दौरा पड़ा था
उसकी मां कैरोलिन के बताया कि हम घर पर टीवी देख रहे थे और ऐडान अपने कमरे में था। तभी मैंने घर के बाहर पुलिस की दो कारों को देखा, जिनकी लाइट जल रही थी। मुझे लगा कि वे किसी वजह से यहां आए होंगे, लेकिन वे सीधे हमारे दरवाजे पर आ गए। उन्होंने बताया कि यहां पर कोई है, जो कोई जवाब नहीं दे रहा है। हमने कहा कि हमने तो किसी को भी नहीं बुलाया है। तब उन्होंने कहा कि उनके पास अमेरिका से फोन आया है। मैंने तब ऐडान को देखा तो वह बहुत मुश्किल में था। उसके बाद से ऐडान की कई जांच हो चुकी हैं। यह साल में दूसरा मौका था, जब ऐडान को दौरा पड़ा था। अगर उसे समय पर मेडिकल सहायता नहीं मिलती तो यह घातक हो सकता था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना