• Hindi News
  • Interesting
  • Russia, Solar powered Plane took the first long flight, traveled 1700 km from Moscow to Crimea

रूस / सोलर प्लेन ने पहली लंबी उड़ान भरी, 1700 किमी का सफर तय कर मास्को से क्रीमिया पहुंचा



सौर ऊर्जा से संचालित प्लेन लेतायुस्चाया लैबोरेटोरिया (फ्लाइंग लैब)। सौर ऊर्जा से संचालित प्लेन लेतायुस्चाया लैबोरेटोरिया (फ्लाइंग लैब)।
Russia, Solar powered Plane took the first long flight, traveled 1700 km from Moscow to Crimea
X
सौर ऊर्जा से संचालित प्लेन लेतायुस्चाया लैबोरेटोरिया (फ्लाइंग लैब)।सौर ऊर्जा से संचालित प्लेन लेतायुस्चाया लैबोरेटोरिया (फ्लाइंग लैब)।
Russia, Solar powered Plane took the first long flight, traveled 1700 km from Moscow to Crimea

  • रूस में लंबे समय से सोलर बैटरी से उड़ने वाले प्लेन लेतायुस्चाया लैबोरेटोरिया पर काम चल रहा
  • प्रोजेक्ट टीम का दावा- जल्द ही यह प्लेन बिना रुके पूरी धरती का चक्कर लगाने में सक्षम होगा

Dainik Bhaskar

Jul 09, 2019, 07:06 PM IST

येवपाटोरिया.  रूस में लंबे समय से सोलर बैटरी से उड़ने वाले प्लेन लेतायुस्चाया लैबोरेटोरिया (फ्लाइंग लैब) पर काम चल रहा है। इस प्लेन ने अपनी पहली लंबी उड़ान भरी है। इसे 1700 किलोमीटर की दूरी तय तक मास्को से क्रीमिया लाया गया। 

 

इस प्लेन के पायलट फ्योडोर कोनियुकोव 2021 में इससे पूरी दुनिया का चक्कर लगाने की योजना बना रहे हैं। सफलता मिलने के बाद इसके प्रोडक्शन मॉडल पर काम शुरू होगा। 

 

7 दिनों में सौर ऊर्जा से चार्ज हो जाएगा 
इस प्रोजेक्ट पर काम करने वाली टीम का दावा है कि जल्द ही यह प्लेन बिना स्टॉप के पूरी धरती का चक्कर लगाने में सक्षम होगा। सात दिनों में सौर ऊर्जा से अपने आप चार्ज हो जाएगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना