पहल / छत्तीसगढ़ में खेलों के नाम और नियम संस्कृत में होंगे, ऐसा करने वाला पहला राज्य होगा

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2019, 10:04 AM IST



sports name and rules in sanskrit in chhattisgarh
X
sports name and rules in sanskrit in chhattisgarh

  • इस पहल का मकसद राज्य में संस्कृत को बढ़ावा देना और खेलों में भी संस्कृत के प्रयोग को प्रोत्साहित करना है

रायपुर (अमिताभ अरूण दुबे).  क्रिकेट को कंदुक क्रीडा, फुटबॉल को पाद कंदुकम् और बैडमिंटन को खगक्षेपण क्रीडा कहा जाए तो शुरू में सुनने में कुछ अटपटा लग सकता है, लेकिन जल्द ही छत्तीसगढ़ में ऐसा होने जा रहा है।  राज्य में क्रिकेट, फटुबॉल, वॉलीबॉल जैसे सभी प्रचलित खेलों के नाम और नियम के लिए संस्कृत में तकनीकी शब्दावली होगी। संस्कृत विद्या मंडलम् व्यापक रिसर्च कर चरणबद्ध तरीके से इसे तैयार करेगा।

 

नए शिक्षा सत्र से राज्य के संस्कृत स्कूलों में खेलों को उनके प्रचलित नामों की जगह संस्कृत में पुकारने की तैयारी भी है। खेलकूद प्रतियोगिता में संस्कृत भाषा में ही कॉमेंट्री भी होगी। दरअसल, इसका मकसद प्रदेश में संस्कृत शिक्षा को बढ़ावा देना है। साथ ही खेलों में भी संस्कृत के प्रयोग को प्रोत्साहित करना है।

 

टेबल टेनिस को उत्पीठिका कंदुकम् कहते हैं

 

खेल संस्कृत में नाम
क्रिकेट कंदुक क्रीडा
फुटबॉल पाद कंदुकम्
बॉस्केटबॉल हस्तपाद कंदुकम्
वॉलीवाल अपाद कंदुकम्
टेबल टेनिस उत्पीठिका कंदुकम्
बैडमिंटन खगक्षेपण क्रीडा
दौड़ धावनम्
कबड्डी कबड्डी ध्वनि क्रीडा
खोखो खो ध्वनि क्रीडा
कुश्ती मल्लयुद्धम्
लइका मड़ई बाल मेलापक:

 

स्थानीय खेलों के लिए भी अनुवाद : स्थानीय स्तर पर प्रचलित खेलों के नियम कायदों के अलावा पिट्ठू बिल्लस जैसे स्थानीय खेलों के नियम और नामों का भी संस्कृत में अनुवाद किया जाएगा। खेलों के नाम संस्कृत में कैसे बोले जाएंगे इसके लिए भी रिसर्च की जाएगी। 

 

शानदार शॉट के लिए षुष्ठु प्रहार:  क्रिकेट में जोरदार चौके के लिए सिद्ध चतुष्कम्, रन के लिए धावनांक, आउट के लिए निर्गत:, कैच के लिए ग्रहणम्, शानदार शॉट के लिए षुष्ठु प्रहार: शब्द का उपयोग किया जाएगा। गेंद के बाउंड्री पार करने पर कंदुक परिधि लंघनम: बोला जाएगा। 

COMMENT