• Hindi News
  • Interesting
  • The 73 year old woman is traveling from England to Nepal in a trolley, has crossed 12 countries

साहस / 73 साल की महिला ट्रॉली बांधकर इंग्लैंड से नेपाल दौड़कर जा रहीं, 12 देश पार कर चुकी हैं

रविवार को रोजी स्वेल पोप इस्तांबुल पहुंचीं। रविवार को रोजी स्वेल पोप इस्तांबुल पहुंचीं।
X
रविवार को रोजी स्वेल पोप इस्तांबुल पहुंचीं।रविवार को रोजी स्वेल पोप इस्तांबुल पहुंचीं।

  • ब्रिटेन की रोजी स्वेल पोप चैरिटी से भूकंप पीड़ितों की मदद करना चाहती हैं
  • 2018 में 'रन रोजी रन' कैंपेन के तहत दुनिया भर में दौड़ शुरू की थी

Dainik Bhaskar

Dec 10, 2019, 04:04 PM IST

इस्तांबुल. ब्रिटेन की 73 साल की रोजी स्वेल पोप इंग्लैंड से नेपाल दौड़कर जा रही हैं, ताकि चैरिटी के जरिए वह भूकंप पीड़ित परिवारों की मदद कर सकें। वह रविवार को इस्तांबुल पहुंचीं। रोजी ने बताया कि उन्होंने 2018 में 'रन रोजी रन' कैंपेन के तहत दुनिया भर में दौड़ना शुरू किया था। अब तक वह 12 देश पार कर चुकी हैं। 

रोजी ने कहा, मैं कभी नहीं जानती कि मैं किस रात कहां सोती हूं। मैं मैदान में सोती हूं, कभी कभी गलियों में। सुबह उठती हूं और दौड़ना शुरू करती हूं। मैं उन लोगों से मिलती हूं, जिनसे मैं कभी नहीं मिल सकूंगी

रोज 20 किलोमीटर दौड़ती हैं
रोजी का अगल स्टॉप जॉर्जिया में होगा। वह हर दिन करीब 20 किमी दौड़ती हैं और लोगों से मदद मांगती हैं। वह एक ट्रॉली बांधकर दौड़ती हैं, जिसमें उनकी जरूरतों का सामान है। रोजी खुद का परिचय एक सामान्य सीनियर सिटीजन के रूप में देती हैं, लेकिन उन्होंने पूरी दुनिया में रिश्ते बनाए हैं। अपने सफर को लेकर रोजी का कहना है, यह जिंदगी को कुछ ज्यादा देने का तरीका है। क्योंकि आप दुनिया में आने और इससे बाहर का इंतजार नहीं करते हैं।

पहले भी कई रिकॉर्ड बनाए

रोजी की पहचान दुनिया के सबसे लंबे एकल धावकों में भी है। वह 2004 में चैरिटी के लिए पैसा जुटाने के लिए दुनिया भर में दौड़ीं। 2015 में वह पूरे अमेरिका भर में दौड़्र चुकी हैं। यहीं नहीं यूके से लेकर यूएस तक का सफर उन्होंने 17 फीट की बोट में किया। उन्होंने अपने दिवंगत पति क्लाइव के सम्मान में न्यूयॉर्क से सैन फ्रांसिस्को तक दौड़ पूरी की है। क्लाइव का निधन प्रोस्टेट कैंसर के कारण हो गया था। 

DBApp
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना