मप्र / देश की सबसे बड़ी टकसाल, यहां हर साल 500 करोड़ के साढ़े 5 टन वजनी सिक्के बनते हैं

X

  • पीथमपुर में मित्तल एप्लायंस लिमिटेड कंपनी आरबीआई के लिए 5 और 10 रुपए के सिक्के बनाती है
  • टकसाल अब तक 48 हजार टन के 600 करोड़ सिक्के बना चुकी है, दाे अन्य प्लांट फरीदाबाद और हिसार में भी हैं

दैनिक भास्कर

Oct 25, 2019, 04:58 PM IST

इंदौर(संजय गुप्ता). पीथमपुर में मित्तल एप्लायंस लिमिटेड कंपनी आरबीआई के लिए 5 और 10 रुपए के सिक्के बनाती है। कंपनी हर साल करीब 500 करोड़ रु. मूल्य के साढ़े 5 टन वजनी कोरे सिक्के (कीमत आदि की सील आरबीआई बाद में लगाता है) बनाती है। कंपनी अब तक 48 हजार टन के 600 करोड़ सिक्के बना चुकी है।

 

यह देश का सबसे पुराना और सबसे बड़ा प्लांट है, जहां सिक्के बनाए जाते हैं। इसके अलावा दाे प्लांट फरीदाबाद और हिसार में हैं।

 

नाैसेना के मेडल भी बनाते हैं
मित्तल एप्लायंस कंपनी 1986 में बनी। यहां 1989 से सिक्के बन रहे हैं और 2002 से मुख्य काम सिक्के बनाने का ही है। कंपनी नौसेना के मेडल भी बनाती है। कंपनी के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर अंशुल मित्तल बताते हैं कि मेक-इन इंडिया को फोकस में रखकर यह काम हो रहा है, जिससे देश को बाहर से सिक्के जैसी सामग्री नहीं मंगानी पड़े।

DBApp

 

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना