कंबोडिया / 98 और 101 साल की दो बहनें 47 साल बाद दोबारा मिलीं, देश में सत्ता परिवर्तन की वजह बिछड़ गई थीं

तानाशाह पॉल पॉट के शासन में करीब 20 लाख लोगों का स्थान परिवर्तन हुआ था। तानाशाह पॉल पॉट के शासन में करीब 20 लाख लोगों का स्थान परिवर्तन हुआ था।
X
तानाशाह पॉल पॉट के शासन में करीब 20 लाख लोगों का स्थान परिवर्तन हुआ था।तानाशाह पॉल पॉट के शासन में करीब 20 लाख लोगों का स्थान परिवर्तन हुआ था।

  • 98 साल की बन सेन 101 साल की बन चिया की मुलाकात पिछले हफ्ते हुई
  • दोनों बहनों को मिलाने के लिए एनजीओ चिल्ड्रन्स फंड 2004 से प्रयास कर रहा था

दैनिक भास्कर

Feb 22, 2020, 06:43 PM IST

नोम पेन्ह. कंबोडिया की 98 और 101 साल की दो बहनें पिछले हफ्ते 47 साल के बाद दोबारा फिर मिल गईं। दोनों ने एक दूसरे को इससे पहले 1973 में देखा था। इससे 98 साल की बन सेन अपनी 101 साल की बहन बन चिया और 92 साल के भाई से मिलकर रोने लगीं। दोनों बहनें एक दूसरे के बारे में सोचती थीं कि उनमें से किसी एक मौत हो गई होगी।

कंबोडिया में 1970 के दशक में लागू खमेर रूज का सत्ता में था। इसके कारण बड़े पैमाने पर लोग बिछड़े थे। तानाशाह पॉल पॉट और उसकी सेना ने 1975 में कंबोडिया की सत्ता संभाली थी। 1976 में नई साम्यवादी सरकार का पॉल पॉट प्रधानमंत्री बना था। पॉट के कार्यकाल को खमेर रूज के नाम से जाना जाता था। यह 1979 तक सत्ता पर काबिज रहा। इस दौरान करीब 20 लाख लोग प्रभावित हुए। 

2004 से हो रही थी बहनों को मिलाने की कोशिश
बेन को मिलाने के लिए स्थानीय एनजीओ चिल्ड्रन्स फंड ने 2004 में पहल की थी। इसके बाद एनजीओ को बेन का भाई और बड़ी बहन पिछले हफ्ते एक गांव में मिल गए हैं। लगभग आधी सदी के बाद दोनों बहनें एक हो सकीं। बेन ने बताया, उसने बहुत पहले अपना घर छोड़ दिया था। उसके बाद वह फिर कभी लौट कर देखने नहीं आ सकी। मुझे अपनी बड़ी बहन से मिलकर बहुत खुशी हुई। जब मेरे भाई ने सालों बाद मेरा हाथ छुआ तो मैं रोने लगी थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना